बुरी तरह फंसे गौतम गंभीर, लग सकता है बैन 

गौतम गंभीर ने रणजी ट्रॉफी मैच में मनोज तिवारी के साथ हुई बहस के दौरान सौरव गांगुली और बंगालियों के बारे में नस्ली टिप्पणी के आरोप से इनकार किया है।  

By: satyabrat tripathi

Published: 26 Oct 2015, 11:11 AM IST

नई दिल्ली। टीम इंडिया के सीनियर प्लेयर और दिल्ली के कप्तान गौतम गंभीर रणजी ट्रॉफी मैच के दौरान मनोज तिवारी से उलझकर बुरी तरह से फंस गए हैं। 

एक वेबसाइट ने बीसीसीआई सूत्रों के हवाले बताया है कि गौतम गंभीर पर पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली और बंगालियों के बारे में नस्ली टिप्पणी करने के कथित आरोप में बैन लगाया जा सकता है।

Manoj Tiwari-Sushmita

बता दें कि बंगाल के कप्तान मनोज तिवारी ने दिल्ली के कप्तान गौतम गंभीर पर आरोप लगाया है कि मैच के दौरान हुई बहस के दौरान उन्होंने सौरव गांगुली और बंगालियों के बारे में नस्ली टिप्पणी की थी। 

हालाकि गौतम गंभीर ने मनोज तिवारी की ओर से लगाए गए आरोपो को खारिज करते हुए कहा है कि बंगाल के कप्तान को सनसनीखेज दावे करने के बजाय अपने खेल पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।

gautam gambhir

इस बाबत गौतम गंभीर ने प्रेस को जारी बयान में कहा, ''रविवार को मनोज तिवारी ने यह गलत दावा किया कि मैंने बंगाल समुदाय और मेरे पसंदीदा भारतीय कप्तान और बेहतरीन क्रिकेटर सौरव गांगुली, जिन्हें हम प्यार से दादा कहते हैं, के बारे में जातीय टिप्पणी की। मैं स्पष्ट रूप से कहता हूं कि ये आरोप आधारहीन हैं और यह तिवारी का अपनी कल्पना की उड़ान से चीजों को सनसनीखेज बनाने का तरीका है।'' 

Sourabh ganguli

आईपीएल जिम्मेदारः 

वहीं दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर शनिवार को दिल्ली-बंगाल के रणजी ट्रॉफी मुकाबले के दौरान गौतम गंभीर और मनोज तिवारी में जबरदस्त भिड़ंत के लिए पूर्व कप्‍तान बिशन सिंह बेदी ने आईपीएल को दोषी ठहराया है। उन्होंने कहा कि गंभीर (70 प्रतिशत मैच फीस) और तिवारी (40 प्रतिशत मैच फीस) पर जुर्माने से ज्‍यादा बदलाव नहीं आएगा। आपको इन्‍हें कुछ मैचों के लिए प्रतिबंधित करना चाहिए। 

Bishan singh bedi

Manoj Tiwari
Show More
satyabrat tripathi Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned