सुनील की बदौलत भारत लगातार दूसरी बार बना ब्लाइंड क्रिकेट विश्वकप चैम्पियन, फाइनल में दी पाक को मात

ब्लाइंड क्रिकेट वल्र्ड कप में भारत ने पाकिस्तान को हराकर अपने नाम दूसरी बार खिताब हासिल किया।

By: Mazkoor

Published: 20 Jan 2018, 09:30 PM IST

शारजाह : शारजाह में खेले गए ब्लाइंड विश्वकप क्रिकेट के फाइनल में भारत ने अपने चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को दो विकेट से हराकर लगातार दूसरी बार विश्व कप अपने नाम कर लिया। पिछली बार भी भारत ने पाकिस्तान को ही फाइनल में शिकस्त दी थी।
भारत के सामने पाकिस्तान ने जीत के लिए 309 रनों का लक्ष्य रखा था, जिसे भारत ने 38.2 ओवा में 8 विकेट खोकर हासिल कर लिया। इससे भारत ने टॉस जीतकर पाकिस्तान को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया था। पाक ने निर्धारित 40 ओवर में 8 विकेट खोकर 308 रन बनाए। पाकिस्तान की ओर से रियासत खान ने 48 और कप्तान निसार अली ने 47 रन बनाए। भारत की तरफ से अजय रेड्डी ने 63 और सुनील रमेश ने 93 रन बनाए।
इस फाइनल मुक़ाबले के बाद पुरस्कार वितरण समारोह का सबसे बड़ा आकर्षण पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और एशियाई ब्रेडमैन कहे जाने वाले जहीर अब्बास और भारत के पूर्व विकेट कीपर बल्लेबाज सैय्यद किरमानी थे। भारतीय क्रिकेट टीम को प्रधामंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस जीत पर भारतीय बधाई दी है।


मैन ऑफ द फाइनल रहे सुनील रमेश
सुनील रमेश का जन्म 7 अप्रैल 1998 को कर्नाटक में हुआ। उनके माता-पिता दिहाड़ी मजदूर हैं। सुनील के एक बहन और भाई भी हैं। सुनील की खेलकूद में बचपन से ही दिलचस्पी थी। एक दिन क्रिकेट खेलते हुए सुनील की आंख में अचानक एक तार तार घुस गया। इस तार के घुसने से सुनील रमेश की दाईं आंख की रोशनी चली गई। दाईं आंख का असर सुनील की बाईं आंख पर भी हुआ। ये हादसा तब हुआ था, जब उनकी उम्र 11 साल थी। इसके बाद सुनील ने कर्नाटक के चिकमंगलूर के एक ब्लाइंड स्कूल में दाखिला ले लिया। यहां उन्होंने एक बार क्रिकेट खेलना शुरू किया। हालांकि शुरुआत में उन्हें परेशानी आई, लेकिन बाद में सबकुछ सही होता चला गया। अच्छे खेल की वजह से सुनील को राज्य की ब्लाइंड टीम में जगह मिली। 2016 में एशिया कप के लिए राष्ट्रीय टीम में जगह बनाने में सफल रहे। सुनील रमेश टी-20 वल्र्ड कप भी खेल चुके हैं।
कर रहे हैं ग्रेजुएशन
क्रिकेट के अलावा सुनील ग्रैजुएशन कर रहे हैं और सेकंड इयर में हैं। सुनील रमेश का सपना है कि वो ब्लाइंड क्रिकेट में बड़ा नाम बनकर उभरें। सुनील ने कर्नाटक सरकार में नौकरी के लिए भी आवेदन दे रखा है, जो अभी तक मिली नहीं है।

Prime Minister Narendra Modi
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned