आंकड़ों की जुबानी, धोनी जितने कोहली भी है जिम्मेदार   

सचिन तेंदुलकर के रिकार्डों को तोड़ने के लिए उनके उत्तराधिकारी माने जा रहे सुपरस्टार बल्लेबाज विराट कोहली ने इस साल अब तक अपने वनडे करियर का सबसे खराब प्रदर्शन किया है। 

By: satyabrat tripathi

Published: 13 Oct 2015, 09:23 AM IST

नई दिल्ली। भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी इस समय बेशक आलोचनाओं से घिरे हुए हैं लेकिन आलोचक इस तथ्य को नजरअंदाज कर रहे हैं कि मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के रिकार्डों को तोड़ने के लिए उनके उत्तराधिकारी माने जा रहे सुपरस्टार बल्लेबाज विराट कोहली ने इस साल अब तक अपने वनडे करियर का सबसे खराब प्रदर्शन किया है। 

विदेशी खिलाड़ी और कई पूर्व भारतीय क्रिकेटर विराट को वनडे की भारतीय टीम का कप्तान बनाने की वकालत कर रहे हैं। लेकिन इस दिग्गज बल्लेबाज को 2015 में एकदिवसीय मैचों में प्रदर्शन को देखा जाए तो यह बात सामने आ जाएगी कि भारत की हार के लिए जितने धोनी जिम्मेदार हैं, उतने ही जिम्मेदार विराट भी हैं। 

Virat Kohli

वर्ष 2008 में अपना वनडे करियर शुरू करने वाले विराट उसके बाद से लगातार सफलता की सीढ़िया चढ़ते रहे और उनके खाते में अब 162 मैचों में 50.35 के औसत से 6597 रन हैं जिसमें 22 शतक और 33 अर्धशतक शामिल हैं। 

ms dhoni

विराट के इन शतकों में अधिकतर मैचों में भारत को जीत मिली थी। लेकिन इस साल आश्चर्यजनक रूप से वनडे मैचों में विराट का बल्ला रूठा रहा। विराट 2015 में 16 मैचों में 29.92 के बेहद खराब औसत से केवल 389 रन बना पाए हैं जिसमें एक शतक शामिल है। 

team india

यह शतक उन्होंने विश्वकप में पाकिस्तान के खिलाफ भारत के पहले मुकाबले में एडिलेड में बनाया था। एडिलेड के उस 107 रन से पहले के चार मैचों और उसके बाद के 12 मैचों में विराट के बल्ले से एक भी अर्धशतक नहीं निकला है। 

virat kohli
Show More
satyabrat tripathi Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned