यात्रियों से भरी स्लीपर कोच में ट्रोला से टकराकर लगी भीषण आग, 2 सवारी व ट्रोला चालक जिंदा जले

- कई दमकलों ने दो घंटे में आग पर पाया काबू

By: Raj Singh

Published: 20 Sep 2021, 12:41 AM IST

अनपूगढ़ (श्रीगंगानगर). यात्रियों को लेकर अनूपगढ़ से मोहनगढ़ जैसलमेर जा रही एक स्लीपर कोच बस रविवार रात को गांव 5 के समीप ट्रोला से टकरा गई। हादसे में ट्रोला व बस पल्टियां खा गए। बस में आग लग गई। यात्रियों की चीख पुकार सुनकर वहां आए ग्रामीणों ने यात्रियों को बाहर निकालने में मदद की। इसी दौरान बस में आग तेजी से फैल गई और बस व ट्रोला धूं-धूं कर जल उठे। आग की सूचना पर कई दमकलें, पुलिस, प्रशासन पहुंच गया। दो घंटे की मशक्कत के बाद बस व ट्रोला में लगी आग पर काबू पाया जा सका। 2 सवारी व ट्रोला चालक आग में जिंदा जल गए। वहीं बस में करीब एक दर्जन सवारियों को चोटें आई है, जिनको अस्पताल पहुंचाया गया। हादसे के बाद वहां जाम लगा हुआ है।
ग्रामीणा, सवारियों व पुलिस के अनुसार एक स्लीपर कोच बस अनूपगढ़ से सवारियां लेकर मोहनगढ़ जैसलमेर जा रही थी। रास्ते में पांच के गांव के समीप हाइवे पर सामने से तेज गति से आते एक ट्रोला व बस भीषण भिड़ंत हो गई। इससे यात्रियों में चीख पुकार मच गई। इस दौरान तेज धमाके की आवाज सुनकर आसपास के ग्रामीण दौडकऱ वहां पहुंचे। हादसे के बाद बस कई पल्टियां खा गई और ट्रोला भी पलट गया। ट्रोला में सीमेंट लदा हुआ है। ग्रामीण वहां चीखते पुकारते यात्रियों की बस की तरफ पहुंचे और उनको बाहर निकालने में मदद की। इसी दौरान बस में आग लग गई। कुछ ही देर में बस व ट्रोला धूं-धूं करके जलने लगे। इससे ग्रामीण वहां से दूर हो गए। मामले की सूचना मिलने पर कई एम्बुलेंस, दमकल, बीएसएफ के जवान अपनी दमकल, ग्रामीणों के पानी के टैंकर आदि पहुंच गए। लेकिन आग इतनी तेज थी की दो घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका। आग बुझने के बाद देखा तो चालक ट्रोला में फंसा था, जहां उसकी जिंदा जलने से मौत हो गई। वहीं कई सवारियां मामूली झुलसी और कई को हादसे के दौरान चोटें आई है। करीब एक दर्जन यात्रियों को अस्पताल ले जाया गया। बस में 2 सवारियां रह गई थी, जो आग के दौरान जिंदा जल गई। रात को जिला कलक्टर व पुलिस अधीक्षक भी मौके पर पहुँच गए।
सवारियों ने बताया कि तेज धमाके से बस पलट गई
- बस में सवार एक यात्री ने बताया कि बस तेज गति से जा रही थी। वहीं सामने से आते एक ट्रोला से टकरा गई। इस दौरान एक तेज धमाका हुआ और बस पल्टियां खाती चली गई। इसके बाद यात्रियों में चीख पुकार मची थी और यात्री बस से निकलने का प्रयास कर रहे थे। वहां ग्रामीणों ने भी उनकी मदद की। इसके बाद बस में तेजी से आग लग गई।
बुरी तरह जल चुके शव, नहीं हो सकी पहचान
- बस के अंदर आग लगने के दौरान फंस गई 2 सवारियां व ट्रोला में फंसे चालक जिंदा जल गए। शव इतनी बुरी तरह जल चुके हैं, जिनकी पहचान करना मुश्किल हो गया है। इन शवों को बस व ट्रोला से बाहर निकालने के प्रयास चल रहे हैं। बस से दो यात्रियों के शवों को बाहर निकलवाकर अस्पताल की मोर्चरी में पहुंचा दिया गया है। वहीं ट्रोला चालक का शव अभी ट्रोला में ही फंसा हुआ है।
दमकल के साथ बीएसएफ व निजी टैंकरों से पाया काबू
- बस तथा ट्रोले में आग लगने की सूचना पर पुलिस, प्रशासन के अलावा नगरपालिका अधिशासी अधिकारी संदीप बिश्नोई, दमकल तथा पालिका कर्मचारियों के साथ, सीमा सुरक्षा बल के जवान पानी के टैंकरों के साथ, भामाशाह मोहित छाबड़ा पानी के टैंकर तथा अग्निशामक यंत्रों के साथ व निजी पानी टैंकर चालक सहित मौके पर पहुंचे। सूचना पर विधायक संतोष बावरी, पालिका अध्यक्ष प्रियंका बैलाण, अरोड़वंश संस्था के सचिव तिलकराज चुघ, यूथ कांग्रेस के निशांत चुघ पार्षद राजू चलाना, सुनील बिश्नोई, सहित अन्य मौके पर पहुंचे। वहीं सूचना पर अस्पताल के सभी चिकित्सक व नर्सिंग स्टाफ अस्पताल पहुंच गए और अस्पताल पहुंचे सभी झुलसे व घायल लोगों का इलाज शुरू किया।

Raj Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned