तत्कालीन एएसआई व दलाल के खिलाफ एसीबी ने किया रिश्वत मांगने का प्रकरण दर्ज

- मारपीट के मामले में गिरफ्तारी व चालान पेश करने को मांगी थी रिश्वत

By: Raj Singh

Published: 16 Sep 2021, 12:06 AM IST

श्रीगंगानगर. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की श्रीगंगानगर चौकी ने हनुमानगढ़ में नोहर की फेफाना पुलिस चौकी के तत्कालीन प्रभारी राजूराम व एक दलाल संजय मेघवाल के खिलाफ पीडि़त से मारपीट मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी तथा चालान पेश करने की एवज में दस हजार रुपए की रिश्वत मांगने का मामला दर्ज किया है।


भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो बीकानेर के पुलिस अधीक्षक गगनदीप सिंगला ने बताया कि परिवादी फेफाना निवासी राजेन्द्र कुमार ने 14 मई 2021 ब्यूरो चौकी श्रीगंगानगर में पुलिस उपाधीक्षक भूपेन्द्र कुमार सोनी के समक्ष पेश होकर रिपोर्ट दी कि वह फेफाना गांव का रहने वाला है। उसके बेटे प्रीतम को मोहनदास चारण, संदीप व रोहिताश्व वगैरह ने मारपीट करके हाथ पैर तोड़ दिए। जिसका नोहर थाने में मामला दर्ज है।

इस मामले की जांच फेफाना चौकी प्रभारी राजूराम कर रहे हैं। जांच अधिकारी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं कर रहे हैं और मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई करेंगे। गांव फेफाना का संजय पुत्र प्रेमाराम मेघवाल जो बोलेरो चलाता है और उसका चौकी में आना जाना है। जो पुलिस के लिए दलाली का काम करता है। जो मेरे भतीजे को मिला और कहा कि तुम्हारा काम राजूराम एएसआई से करवा दूंगा, खर्चा लगेगा।

तुम्हारा काम 30 हजार रुपए का 15 हजार रुपए में करवा दूंगा। इस पर एएसआई राजूराम से मिले तो उसने भी संजय से बात करने को कहा। इस शिकायत का पुलिस उपाधीक्षक भूपेन्द्र सोनी ने सत्यापन कराया। सत्यापन के दौरान आरोपी एएसआई राजूराम की ओर से अपने पदीय दायित्वों के निर्वहन में अपनी पदीय स्थिति का दबाव बनाकर मामले में आरोपियों की गिरफ्तार व चालान पेश करने संबंधी कार्य की एवज में अपने दलाल आरोपी संजय के मार्फत 10 हजार रुपए की मांग करना पाया गया।

इसके बाद ट्रेप कार्रवाई का आयोजन किया गया। ट्रेप की कार्रवाई के दौरान एएसआई राजूराम की ओर से रिश्वत की राशि खुद नहीं पकडकऱ संजय को देने को कहा। इस पर दलाल संजय से संपर्क किया तो संजय ने स्वयं को बाहर होना बताया। परिवादी पर ट्रेप कार्रवाई कराए जाने का संदेह होने पर आरोपियों ने रिश्वत की राशि नहीं ली। इस पर प्रकरण बनाकर ब्यूरो मुख्यालय भेजा गया। जहां प्रथम दृष्टया आरोप प्रमाणित पाए जाने पर एफआईआर दर्ज की गई है।

Raj Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned