दिन में करते थे नौकरी और रात होते ही चुरा ले जाते थे कीमती सामान

https://www.patrika.com/sri-ganga-nagar-news/

By: jainarayan purohit

Published: 04 Apr 2019, 10:45 AM IST

राजियासर.

जिले के सूरतगढ़ थर्मल मेें चोरी का एक अलग तरह का मामला सामने आया है। सूरतगढ़ थर्मल में हुई इस चोरी के मामले में चोर बाहरी नहीं है बल्कि थर्मल में ही काम करने वाले हैं। वे दिन में सूरतगढ़ थर्मल में नौकरी करते और इस दौरान थर्मल में उपयोग होने वाला लाखों रुपए का हलका लेकिन कीमती सामान थर्मल की दीवार से बाहर फैंक देते और बाद में इसे उठा ले जाते थे।

पुलिस जांच में बुधवार को इस संबंध में खुलासा हुआ। चोरी के अब तक नौ आरोपी पकड़े जा चुके हैं। आरोपी दिन में थर्मल में काम करते और इधरउधर घूमते हुए एल्यूमीनियम व पीतल, तांबा जैसे कीमती व कम वजन के सामान थर्मल पावर प्लांट के चारों ओर बनी बड़ी दीवार के बाहर फैंक देते थे और रात के समय उठा लाते थे। इसमें से कुछ जनों के खिलाफ चोरी के मुकदमें भी पहले दर्ज हो चुके हैं।


पुलिस ने बुधवार को इस संबंध में खुलासा करते हुए तीन लाख रुपए के विद्युत उपकरण जब्त किए हैं तथा अब तक नौ लोगों को गिरफ्तार किया है।थाना प्रभारी ने बताया कि पुलिस ने बुधवार को चोरी के आरोप में रायांवाली निवासी दिलीप कुमार पुत्र महावीर मेघवाल, प्रभु दयाल पुत्र देवीलाल लोहार, सुभाष पुत्र बनवारी मेघवाल व अनोप सिंह पुत्र हरि सिंह राजपूत को गिरफ्तार किया है। इससे दो दिन पहले पुलिस चोरी के आरोप में रायांवाली निवासी रामकुमार पुत्र रामलाल मेघवाल, सलीम पुत्र संजू , बुधराम उर्फ बुधिया पुत्र दलाराम मेघवाल निवासी रायांवाली, फरीदसर निवासी पुरखाराम पुत्र हरचंद नायक व चोरी का माल खरीदने के आरोप में सूरतगढ़ निवासी जगदीश पुत्र शंकरलाल स्वामी को गिरफ्तार किया था।

चोरी का सामान जब्त
उन्होंने बताया कि इस मामले में गिरफ्तार आरोपियों के कब्जे से केबल, कनेक्टिंग बार, मय फिंगर,रिबेट पिनै, बसवार प्लेटें व उसके टुकड़े, कनेक्टिंग बार बिना फिंगर सहित अन्य सामान शामिल है। इस सामान की अनुमानित कीमत तीन लाख रुपए बताई जा रही है। इस मामले में आरोपियों को गुरुवार को अदालत में पेश कर रिमाण्ड पर लिया जाएगा।

jainarayan purohit
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned