अजमेर बोर्ड आपके ‘द्वार’, एक क्लिक पर 46 सालों की सुविधा

गंगानगर-हनुमानगढ़ सहित प्रदेश के लाखों विद्यार्थियों को हजारों का फायदा

-अधिकतर काम ऑनलाइन मोड पर

By: Krishan chauhan

Published: 13 Jun 2021, 11:19 AM IST

गंगानगर-हनुमानगढ़ सहित प्रदेश के लाखों विद्यार्थियों को हजारों का फायदा

अजमेर बोर्ड आपके ‘द्वार’, एक क्लिक पर 46 सालों की सुविधा

-अधिकतर काम ऑनलाइन मोड पर

-कृष्ण चौहान
-विद्यार्थी हित की खबर

श्रीगंगानगर. तकनीक के इस युग में माध्यमिक शिक्षा बोर्ड विद्यार्थियों की सुविधा के लिए लगातार अलग-अलग नवाचार कर रहा है। विद्यार्थी सेवा केंद्र, डीजी लॉकर, फीस पोर्टल के बाद अब दस्तावेज संशोधन की सुविधा भी विद्यार्थियों को ऑनलाइन मुहैया करवाकर बोर्ड ने गंगानगर-हनुमानगढ़ सहित प्रदेशभर के जरूरतमंद छात्र-छात्राओं को ना केवल मानसिक परेशानी से राहत दी है। बल्कि इन विद्यार्थियों को अजमेर आने-जाने के नाम पर होने वाले हजारों रुपए के खर्च से भी बचाया है।

गौरतलब है कि हर वर्ष जिले से 50 हजार जबकि प्रदेश के 20 लाख से ज्यादा विद्यार्थी बोर्ड की विभिन्न परीक्षाओं में शामिल होतें हैं।

-5 वर्ष की अवधि का बंधन भी समाप्त

पिछले साल तक विभिन्न दस्तावेजों के संशोधन में परीक्षा वर्ष से पहले के 5 वर्षों की निर्धारित बाध्यता को भी बोर्ड ने समाप्त कर दिया है। अब केवल जन्मतिथि संशोधन में 5 वर्ष तक की समय सीमा है। इसके अलावा नाम वर्तनी, स्पेस, उपनाम जोडऩा व हटाने संबंधी अन्य संशोधनों पर पांच वर्ष की समय सीमा लागू नहीं होगी।

मेल करना होगा प्रार्थना पत्र और दस्तावेज
बोर्ड द्वारा जारी नई प्रक्रिया के अनुसार नाम, उपनाम या जन्म तिथि में संशोधन के लिए आवेदक को परीक्षा शाखा की इ-मेल आइडी पर प्रार्थना पत्र तथा आवश्यक दस्तावेज अपलोड करने होंगे। बोर्ड कार्यालय की ओर से प्राथमिक जांच में संशोधन उचित पाए जाने पर 24 घंटे के भीतर विद्यार्थी की इ-मेल आइ.डी. या मोबाइल नंबर पर संशोधन शुल्क ऑनलाइन पोर्टल पर जमा कराने के लिए निर्देश दिए जाएंगे।

बोर्ड दे रहा है ये सुविधाएं

1. डिजीलॉकर में 2014 से 2020 तक के दस्तावेज ।

2. ऑनलाइन पोर्टल से आवेदन करने पर 1975 से 2020 तक के प्रतिलिपि दस्तावेज 3-4 दिन में घर पर भिजवाना।

3. विद्यार्थी सेवा केन्द्रों पर 2001 से 2020 तक की अंकतालिका और प्रवजन प्रमाण पत्र की प्रतिलिपि आवेदन के दिन ही उपलब्धता।

ये हैं शुल्क संबंधी प्रावधान

1. सभी प्रकार के संशोधन के लिए मूल संशोधन शुल्क 300 रुपए प्रति परीक्षा निर्धारित है।

2. वर्तनी संशोधन के लिए प्रति पूर्व वर्ष के लिए विलंब शुल्क 100 रुपए जमा करवाना होगा।

3. एक ही परीक्षा में नाम, माता-पिता के नाम आदि में एक से अधिक संशोधन होने पर भी एक ही फीस ली जाएगी।

4. एक ही नामांक का अधिकतम शुल्क 3 हजार रुपए प्रति परीक्षा देय होगा।

5. दस्तावेजों की प्रतिलिपि के लिए वि.से.के.पर 200 रुपए जबकि ऑनलाइन आवेदन पर 300-400 रुपए भुगतान करना होता है।

...................

बोर्ड वेबसाइट पर अप्लाई ऑनलाइन एण्ड पे फी फॉर डॉक्युमेंट लिंक से दस्तावेजों की प्रतिलिपि मंगवाने तथा संशोधन शुल्क जमा करवाने की सुविधा ऑनलाइन उपलब्ध है। साथ ही संशोधन नियम व शुल्क निर्देश भी पोर्टल पर अपलोड है।

-भूपेश शर्मा, समन्वयक, विद्यार्थी परामर्श केंद्र, शिक्षा विभाग, श्रीगंगानगर

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned