शराब दुकानों की नीलामी में बढ़ सकती है राशि, विभाग को मोटे मुनाफे की उम्मीद

- पंजाब व हरियाणा के शराब कारोबारियों के लिए खुला रास्ता

By: Raj Singh

Published: 21 Feb 2021, 11:22 PM IST

श्रीगंगानगर. आबकारी विभाग की नई शराब नीति के तहत अब शराब दुकानों की नीलामी की जाएगी, जिससे बोली लगने पर राशि कई गुना बढ़ सकती है। ऐसे में विभाग को मोटा राजस्व मिलने की उम्मीद है। वहीं पंजाब व हरियाणा के कारोबारी भी दुकानों में बोली लगा सकते हैं, इससे बोली बढ़ सकती है।


आबकारी विभाग के अधिकारियों का कहना है कि पहले लॉटरी सिस्टम में जिस व्यक्ति की दुकान निकलती थी, तो वह लाखों रुपए लेकर उसको अन्य व्यक्ति को बेच देता था और रुपया कमाता था। इस नीति के तहत जो राशि लॉटरी की दुकान लेने वाले कमाते थे, अब वही राशि बोली सिस्टम में सरकार के खजाने में जाएगी।

नीलामी सिस्टम में दुकानों की बोली काफी अधिक पहुंच सकती है, जिससे विभाग को काफी राजस्व भी मिलने की उम्मीद है। अधिकारियों का कहना है कि नीलामी सिस्टम में यदि पूल हुआ तो सरकार उस दुकान की रेट बढ़ा सकती है। ऐसे में पूल होने की गुंजाइश कम ही है।


बाहरी ठेकेदारों की नजर
- प्रदेश में ऑनलाइन आवेदन व नीलामी के जरिए शराब दुकानों के आवंटन के चलते अब यहां के शराब कारोबारियों के साथ ही पंजाब व हरियाणा तक के शराब कारोबारी इसमें रुचि दिखा सकते हैं। इसके लिए पंजाब सीमा से लगते जिले में कई स्थानों पर पंजाब के शराब कारोबारियों की ओर से नीलामी में बोली लगाए जाने की संभावना है।

पंजाब में शराब दुकानों का नवीनीकरण होने के कारण शराब कारोबारी फ्री हैं और वे यहां दांव लगाएंगे। इसके चलते यहां शराब दुकानों की बोलियां बढऩे की उम्मीद है। मौके की कई दुकानों पर बोली कई गुना तक जा सकती है।


इनका कहना है
- ऑनलाइन आवेदन व नीलामी से शराब दुकानों के आवंटन को लेकर स्थानीय शराब कारोबारियों के साथ ही पंजाब व हरियाणा के कारोबारियों का भी रुझान बढ़ा है। ऐसे में शराब दुकानों पर मोटी बोलियां लग सकती है, जो कई गुना तक जा सकती है। जो पैसा पहले लॉटरी सिस्टम में दुकान मिलने पर व्यक्ति दूसरे को बेचकर कमा लेता था। वही राशि अब विभाग के पास जाएंगी।
- प्रदीप कुमार, निरीक्षक आबकारी विभाग श्रीगंगानगर

Raj Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned