अनूपगढ़ विधायक के पिता ने थाने में पुलिस अफसरों को निकाली गालियां, वीडियो वायरल से मची खलबली

Anupgarh MLA's father abuses police officers at police station, video viral- डीएसपी बने मूकदर्शक, रावला सीआई को दुबारा लगाने पर हुआ हंगामा.

By: surender ojha

Updated: 03 Apr 2021, 11:27 AM IST

श्रीगंगानगर. जिले के अनूपगढ़ विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक संतोष बावरी के पिता लूणाराम बावरी का पुलिस थाना में पुलिस के अधिकारियों को गाली गलौच करने का वीडियो वायरल होने से इलाके में खलबली मच गई।

इस वीडियो में विधायक पिता लूणा राम बावरी डीएसपी जयदेव सिहाग के समक्ष गाली देते हुए नजर आ रहे है। डीएसपी वहां मूक दर्शक बने हुए है। बावरी दो मामलों में पुलिस की कार्यशैली से नाराज होकर अनूपगढ़ पुलिस थाना के थानाधिकारी, पुलिस उपाधीक्षक जयदेव सिहाग तथा जिला पुलिस राजन दुष्यंत के खिलाफ जमकर अपनी भड़ास निकाली।

इस वीडियो में उन्होंने कई बार गाली गालौज शब्दों का भी इस्तेमाल किया है। इस वीडियो में विधायक पिता के अलावा अनूपगढ़ और घड़साना के कुछ लोग भी खड़े नजर आ रहे है।

हालांकि अनूपगढ़ पुलिस थाना में किसी के खिलाफ शांतिभंग या अन्य कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की है।

इधर, इस मामलें में पुलिस उपाधीक्षक जयदेव सिहाग ने बताया कि अनूपगढ़ पुलिस थाना में एक व्यक्ति अपने पुत्र के किडनैप होने की सूचना देने आया था जिस पर उसे प्रार्थना पत्र देने के लिए कहा गया। जिस पर उस व्यक्ति ने कहा कि उसका पुत्र नशे का आदी है।

उसे गिरफ्तार कर जेसी करवा दिजीए। इस शख्स के साथ प्रार्थना पत्र देने के लिए समझाइश भी की। लेकिन इस व्यक्ति ने प्रार्थना पत्र नहीं दिया। कुछ देर बाद मौके पर अनूपगढ़ विधायक के पिता लूणाराम पुलिस थाना में आए थे।

लूणाराम ने जिला पुलिस अधीक्षक की ओर से रावला थानाधिकारी को वापस रावला लगाने और युवक के किडनैप होने का मामला दर्ज नहीं करने पर अपना गुस्सा निकालते हुए गाली गालौज करते हुए हंगामा किया था। लेकिन विधायक के पिता के साथ आए कुछ लोगों ने समझाइश कर लूणाराम को अपने साथ ले गए।

इस घटनाक्रम की सूचना उच्चाधिकारियों को दी गई। जांच में पचार पर लगे आरोप निराधार पुलिस उपाधीक्षक सिहाग ने बताया कि रावला के थाना प्रभारी सुरेंद्र पचार के मामले में कुछ लोगों ने लिखित में मामले में कोई कार्रवाई नहीं करने और अवैध खनन को बढ़ावा देने के संबंध में शिकायत की थी जिसकी जांच उन्हें सौंपी गई थी।

जांच के दौरान रावला थाना प्रभारी पर लगाए सभी आरोप निराधार साबित हुए थे। जिनकी उन्होंने रिपोर्ट जिला पुलिस अधीक्षक को सौंप दी थी। जिसके बाद पचार को वापस रावला लगाया गया था।

गौरतलब है कि अनूपगढ़ विधायक के पिता रिटायर्ड थानाधिकारी है। इस वीडियो वायरल के संबंध में पुलिस अधीक्षक और विधायक संतोष बावरी से प्रतिक्रिया जानने के लिए उनसे फोन पर संपर्क भी किया लेकिन दोनों ने कॉल रिसीव नहीं की।

surender ojha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned