scriptArmy of one thousand sanitation workers still empty hands | SriGanganagar एक हजार सफाई कर्मियों की फौज फिर भी हाथ खाली | Patrika News

SriGanganagar एक हजार सफाई कर्मियों की फौज फिर भी हाथ खाली

Army of one thousand sanitation workers still empty hands- कचरा प्लांट नहीं बनने से स्वच्छता सर्वेक्षण में पिछड़ा हमारा शहर श्रीगंगानगर

श्री गंगानगर

Updated: April 22, 2022 10:03:49 am

Our city Sriganganagar lags behind in cleanliness survey due to non-construction of garbage plant
सुरेन्द्र ओझा
श्रीगंगानगर। देश और प्रदेश के स्वच्छता सर्वेक्षण की सूची में टॉप टन सिटी में हमारे श्रीगंगा
नगर शहर का नाम अब तक नहीं आया है। शहर में सफाई की जिम्मेदार नगर परिषद प्रशासन के पास करीब एक हजार सफाई कर्मियेां की फौज है। करीब साढ़े छह सौ स्थायी सफाई कार्मिक है और तीन सौ अस्थायी कार्मिक है। इसके साथ साथ पचास अस्थायी वाहन चालक भी है। वहीं ट्रेक्टर ट्रॉलियों के चालक और इन पर दो दो कार्मिकों की संख्या मिला दी जाएं तो कुल आंकड़ा बारह सौ तक पहुंच जाएगा। इसके बावजूद शहर को टॉप 5 शहरों में लाने के लिए अभी तक प्रभावी ढंग से काम नहीं हो पाया है। Our city Sriganganagar lags behind in cleanliness survey due to non-construction of garbage plant
SriGanganagar एक हजार सफाई कर्मियों की फौज फिर भी हाथ खाली
SriGanganagar एक हजार सफाई कर्मियों की फौज फिर भी हाथ खाली
नगर परिषद के तत्कालीन सभापति जगदीश जांदू ने क्लीन गंगानगर ग्रीन गंगानगर का नाम देकर अभियान शुरू करने की घोषणा की थी लेकिन इस दिशा में अब तक चंद कदम चल पाए है। स्वच्छता सर्वेक्षण के सर्वे के दौरान सबसे कमजोर कड़ी कचरा प्लांट नहीं होना है। हर साल सर्वेक्षण टीम कचरा प्लांट नहीं होने के कारण हमारे शहर की स्वच्छता के संबंध में तय किए गए अंक नहीं मिलते। इस कारण मूल्यांकन की दिशा में हमारा शहर पिछड़ रहा हैं। सफाई व्यवस्थाओं में लगी टीमों का कहना है कि कचरा प्लांट बन जाएं तो स्वच्छता सर्वेक्षण की सूची में हमारा शहर टॉप टन में आएगा। Our city Sriganganagar lags behind in cleanliness survey due to non-construction of garbage plant
शहरी क्षेत्र में कचरा जी का जंजाल बना हुआ है। शहर के 65 वार्डो से रोजाना 86 टन कचरे निकलता है। इस कचरे को चक 6 जैड स्थित नगर परिषद की ओर साढ़े बारह बीघा भूमि में बनाए गए डंपिंग प्वाइंट पर डाला जा रहा है। लगातार कचरा डालने से इस भूमि की मिट्टी भी खराब हो चुकी है। इस संबंध में राज्य सरकार ने पिछले दिनों केन्द्र सरकार से पूरे प्रदेश में कचरा निस्तारण की प्लानिंग बनाई है। इस में बताया गया गया है कि ऐसे कचरे से जहरीली बन रही जमीन को बचाने के लिए कचरा प्लांट स्थायी समाधान है। Our city Sriganganagar lags behind in cleanliness survey due to non-construction of garbage plant
प्रदेश के चौबीस शहरों में 473 एकड़ भूमि पर पड़े 45 लाख मीट्रिक टन कचरे का स्थायी निस्तारण के लिए प्रस्तावित कचरा प्लांट पर 250 करोड़ रुपए का बजट खर्च होने का अनुमान है। इसमें केन्द्र सरकार का 33 प्रतिशत और राज्य सरकार का भी 33 प्रतिशत हिस्सा कुल 66 प्रतिशत बजट देानेां सरकारों से मिलेगा। शेष 34 प्रतिशत स्थानीय निकाय यानि नगर परिषद को देने का प्रावधान तय किया गया है। वैज्ञानिक तरीके से मुक्त होने वाले ऐसे प्लांट के लिए केन्द्र सरकार ने अपने हिस्से का बजट 74.31 करोड़ रुपए में से पहली किस्त के रूप में 29.72 करोड़ रुपए अगले दो महीने में जारी करने के संबंध में आदेश भी जारी किए है। Our city Sriganganagar lags behind in cleanliness survey due to non-construction of garbage plant
बीकानेर संभाग में रोजाना कचरा निकालने में हमारा शहर दूसरे स्थान पर है। पहला स्थान पर बीकानेर मुख्यालय है। जहां रोजाना 664 टन कचरा निकलता है। जबकि श्रीगंगानगर शहर में प्रतिदिन 86 टन कचरे निकाला जा रहा हैं।
....
जिला कचरा टनों में क्षेत्रफल एकड़ में
श्रीगंगानगर 86.91 26.07
हनुमानगढ़ 66.18 17.57
बीकानेर 664.658 12.88
चुरू 64.89 8.93

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Petrol-Diesel Prices Today: केंद्र के बाद राज्यों ने घटाए पेट्रोल-डीजल के दाम, जानें कितनी हैं आपके शहर में कीमतेंQuad Summit 2022: प्रधानमंत्री मोदी का जापान दौरा, क्वाड शिखर सम्मेलन में बाइडेन से अहम मुलाकात, जानें और किन मुद्दों पर होगी बात'हमारे लिए हमेशा लोग पहले होते हैं', पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कटौती पर पीएम मोदीRam Mandir : पांच गुम्बद वाला दुनिया का अकेला होगा राम मंदिर, जाने अलग दिखने वाली विशेषताएंभाजपा नेता को किया गिरफ्तार, आशियाना ध्वस्त करने पहुंचा था बुलडोजरपैंगोंग झील पर जारी गतिरोध के बीच रेलवे ने क्यों दिया सुपरफास्ट ट्रेनों के लिए चीनी कंपनी को कॉन्ट्रैक्ट?सिर्फ पेट्रोल और डीजल ही नहीं, पांच चीजें हुईं सस्ती, केरल सरकार ने भी घटाया वैट, चेक करें आपके शहर में क्या हैं दामIPL 2022 Point Table: गुजरात, राजस्थान, लखनऊ और बैंगलोर ने प्लेऑफ में बनाई जगह
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.