बंद नहरों को खोलने के आश्वासन पर किसान संगठनों का पड़ाव खत्म

- कई दौर की वार्ताओं के बाद बनी सहमति
- बीबीएमबी की बैठक में बढ़ेगा शेयर

By: vikas meel

Published: 16 May 2018, 09:32 PM IST

श्रीगंगानगर.

गंगनहर प्रणाली की बंद नहरों को खोलने के आश्वासन पर किसान संगठनों ने बुधवार रात कलक्ट्रेट पर पड़ाव समाप्त कर दिया। इससे पहले वार्ता के कई दौर चले जो सिरे नहीं चढ़े। किसान संगठनों की मांग खरीफ की बिजाई के लिए गंगनहर में 2200 क्यूसेक पानी चलाने की थी जबकि भाखड़ा ब्यास प्रबंधन बोर्ड की पिछले दिनों चण्डीगढ़ में हुई बैठक में मई का शेयर 1400 क्यूसेक निर्धारित करने के बाद किसान संगठन आंदोलनरत थे।

 

अखिल भारतीय किसान सभा, गंगानगर किसान समिति और किसान संघर्ष समिति ने पानी नहीं बढऩे की दशा में कलक्ट्रेट पर पड़ाव डालने की घोषणा कर रखी थी। इन संगठनों की अपील पर बुधवार को गंगनहर क्षेत्र के किसान बड़ी संख्या में यहां पहुंचे। किसान संगठनों की रणनीति यह थी कि शाम तक उनकी मांग पर सकारात्मक निर्णय नहीं हुआ तो पूरा पानी मिलने तक पड़ाव चलेगा। पड़ाव स्थल गंगासिंह चौक पर दोपहर तक किसानों की सभा चलती रही। उसके बाद किसान कलक्ट्रेट परिसर में घुसने लगे। पुलिस के सतर्क होने से पहले ही पड़ाव स्थल पर बैठे लगभग सभी किसान कलक्टर कार्यालय तक पहुंच गए और कार्यालय को चारों तरफ से घेरकर धरना शुरू कर दिया।

 

वार्ताओं के दौर शुरू

किसानों के कलक्टर कार्यालय का घेराव करने के बाद प्रशासन ने किसान नेताओं को वार्ता का न्योता दिया। प्रशासन की ओर से 200 क्यूसेक पानी बढ़ाने का आश्वासन दिया गया, जिसे किसान नेताओं ने अस्वीकार कर दिया। वार्ता के चार दौर बेनतीजा रहने पर किसान नेताओं ने आपस में मंत्रणा की। इसमें तय हुआ कि प्रशासन अगर गंगनहर प्रणाली की सभी बंद पड़ी नहरों को एकसाथ खोलने का आश्वासन देता है तो पड़ाव खत्म कर दिया जाएगा।

 

इसके बाद हुई वार्ता में प्रशासन ने बंद नहरों को चलाने पर सहमति व्यक्त कर दी साथ ही किसान नेताओं को आश्वस्त किया कि 18 मई को चण्डीगढ़ में होने वाली भाखड़ा ब्यास प्रबंधन बोर्ड की बैठक में गंगनहर का शेयर 2200 क्यूसेक करने का प्रस्ताव भिजवाया जाएगा। वार्ता में पूर्व विधायक हेतराम बेनीवाल, सीपीआई के डॉ. गोपाल हाण्डा, कांग्रेस के पृथीपाल सिंह संधू व रामदेवी बावरी, गंगानगर किसान समिति के संतवीर सिंह मोहनपुरा व रणजीत सिंह राजू, अखिल भारतीय किसान सभा के श्योपत मेघवाल व अवतार सिंह रामगढिय़ा, किसान संघर्ष समिति के सुभाष सहगल व अमरसिंह बिश्नोई ने भाग लिया।

 

Show More
vikas meel
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned