मूलभूत सुविधाओं को तरसता विद्यालय

-राज्य सरकार शिक्षा के नाम पर लाखों रूपये खर्च कर रही

By: pawan uppal

Published: 19 Jul 2018, 09:12 AM IST

रामसिंहपुर.

राज्य सरकार शिक्षा के नाम पर लाखों रूपये खर्च कर रही है लेकिन सुरजनसर क्षेत्र की ग्राम पंचायत गोविन्दसर के चक एक बीपीएम के राजकीय प्राथमिक विद्यालय के बच्चे पिछले एक दशक से शुद्ध पेयजल को तरस रहे हैं। इन बच्चों को मजबूरन फ्लोराईड युक्त हैंडपम्प का पानी पीना पड़ रहा है। जिससे नौनिहाल बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं। जानकारी के अनुसार एक बीपीएम में एक जुलाई 1999 में राजीव गांधी स्वर्ण जयंती पाठशाला के नाम से इंदिरा गांधी मुख्य नहर के समीप पाठशाला शुरु हुई थी।

 

20 हजार से अधिक राशि के बिल अब ऑनलाइन जमा होंगे

 

सन् 2004 में पीएचईडी विभाग द्वारा यहां पर पेयजल के लिए एक हैडपम्प लगवाया गया। लेकिन इसका पानी खारा व फ्लोराईड युक्त होने से नौनिहालों के स्वास्थ्य पर कुप्रभाव पडऩे लगा। बार बार उच्चाधिकारियों को अवगत करवाने पर वर्ष 2007 में एसएसए से इसी स्थान पर दो कमरे एक रसोई व एक पानी की डिग्गी का निर्माण करवाया गया लेकिन विभाग के उदासीनता के चलते उस डिग्गी को वाटरवक्र्स व नहर से भी नही जोड़ा गया। ग्रामीण दिनेश सिहाग, विजयपाल गोदारा, अशोक कड़वासरा आदि नेे बताया कि नहर के समीप विद्यालय होने के बावजूद बच्चों को खारा पानी पीना पड़ रहा है। जिससे ग्रामीणों में रोष है।

 

अस्पताल में हंगामा करते चार गिरफ्तार


26 का है नांमाकन
- विद्यालय गोविन्दसर से अढाई व भोपालपुरा से दो किमी दूर है। विद्यालय में 26 बच्चों का नामांकन है। जिस पर एकमात्र शिक्षक है। नन्ने मुन्ने बच्चे होने के कारण ये दूसरे विद्यालयों में नही जा सकते हैं। इस संबंध में जलदाय विभाग के कनिष्ठ अभियंता गौरव कुमार ने बताया कि नहर के किनारे हैंडपम्प में फ्लोराईडयुक्त पानी आना आश्चर्य का विषय है। वाटरवक्र्स से सप्लाई का हमारे पास अभी कोई प्रावधान नही है।

Read More News...

तीन बच्चों की मां लुटेरी दुल्हन व दो दलाल गिरफ्तार - https://goo.gl/fP1mxa

श्रमिकों का पंचायत समिति पर प्रदर्शन -https://goo.gl/SR3qbq

आयुष्मान भारत में शामिल होंगी जिले की चार पीएचसी -https://goo.gl/83Tm3H

 

Show More
pawan uppal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned