रक्तचाप व स्वास्थ्य के प्रति रहे सजग

रक्तचाप व स्वास्थ्य के प्रति रहे सजग

Jai Narayan Purohit | Publish: May, 17 2019 04:49:20 PM (IST) Sri Ganganagar, Sri Ganganagar, Rajasthan, India

सूरतगढ़.

वर्तमान फास्ट फूड और फास्ट लाइफ के दौर में हम कब किसी बीमारी की चपेट में आ जाएं पता भी नहीं लगता। उच्च रक्तचाप भी ऐसी ही बीमारी है जो अचानक व्यक्ति को गिरफ्त में ले लेती है। भागदौड़ की जिंदगी में मनुष्य अपने स्वास्थ्य के प्रति ध्यान नहीं दे रहा है। इसी वजह से वह कई गंभीर बीमारियों से घिरा रहता है। रक्तचाप के प्रति मनुष्य सजग रहे तथा चिकित्सक के परामर्श से ही दवाइयों का सेवन करें। यह बात डॉ. शिवप्रीत सिंह ने उच्च रक्तचाप दिवस के उपलक्ष में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के एनसीडी क्लिनिक की ओर से सीआरपीएफ कैम्पस में आयोजित सेमिनार में कही।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में मनुष्य को नियमित रूप से व्यायाम व योग करना चाहिए तथा बीमारी होने पर चिकित्सक का परामर्श लेना चाहिए। डॉ. विक्रमजीत ने कहा कि देश में उच्च रक्तचाप की समस्या लगातार बढ़ती जा रही है। मनुष्य को जीवन में कम से कम तनाव लेना चाहिए और किसी भी प्रकार के नशे का सेवन नहीं करना चाहिए। उच्च रक्तचाप का पता जल्दी नहीं लग पाता इसलिए वर्ष में एक बार प्रत्येक व्यक्ति को उच्च रक्तचाप की जांच अवश्य करानी चाहिए।

एनसीडी काउंसलर दीपक शर्मा ने उच्च रक्तचाप के लक्षणों के बारे में बताते हुए कहा कि आज प्रत्येक व्यक्ति की जीवन शैली और खान-पान बदल गया है जिससे वह मोटापा, शुगर और तनाव जैसी अनेक बीमारियों से घिरा रहता है। जीवन में गुणवतायुक्त भोजन के साथ साथ फलों और सलाद का ज्यादा से ज्यादा सेवन करना चाहिए। आज शहरी क्षेत्र में 34 प्रतिशत लोग और ग्रामीण क्षेत्र में 28 प्रतिशत लोग उच्च रक्तचाप की बीमारी से ग्रस्त है। अगर समय रहते इस ओर ध्यान नहीं दिया गया तो यह आकड़ा बढ़ सकता है। इस मौके पर सीआरपीएफ के अधिकारी व जवान मौजूद रहे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned