‘चिकित्सालय में रोगी की जांच,ऑपरेशन व प्रसव की बेहतर सुविधाएं मिलनी चाहिए’

-जिला कलक्टर वर्मा ने चिकित्सालय की व्यवस्थाओं का लिया फीडबैक

By: Krishan chauhan

Published: 05 Feb 2021, 09:56 AM IST

‘चिकित्सालय में रोगी की जांच,ऑपरेशन व प्रसव की बेहतर सुविधाएं मिलनी चाहिए’

-जिला कलक्टर वर्मा ने चिकित्सालय की व्यवस्थाओं का लिया फीडबैक

श्रीगंगानगर. जिला कलक्टर महावीर प्रसाद वर्मा ने टीकाकरण के बाद पीएमओ कक्ष में चिकित्सालय की एक-एक गतिविधियों व व्यवस्थाओं का फीडबैक लिया। कलक्टर ने कहा कि चिकित्सालय में रोगियों को बेहतर सुविधाए मिल रही है और जहां कहीं कमी है वहां पर सुधार कर और बेहतर किया जाए। इस बीच पीएमओ डॉ.बलदेव सिंह चौहान व उप नियंत्रक डॉ.प्रेम बजाज ने प्रेजेंटेशन के माध्यम से जिला अस्पताल में पर्याप्त संसधान,ओपीडी, आइपीडी, जांच व ऑपरेशन सहित चिकित्सालय से जुड़ी एक-एक गतिविधियों की जानकारी दी गई। डॉ.बजाज ने कहा कि चिकित्सालय में 400 से अधिक बैड उपलब्ध है। इनमें 350 सेन्ट्रल ऑक्सीजन पॉइन्ट व एक ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट है। एमसीएच सेंटर में 100 बैड तथा 140 बैड कोविड डेडिकेटिड अस्पताल के उपलब्ध है। जिला चिकित्सालय में शीघ्र ही एनबीइ के डिप्लोमा कोर्स शुरू होगा। इसमें ऐनएसथिसियोलॉजी,ऑबस्ट्रेटिशियन व गायनी, पीडीयाट्रिक्स, फैमिली मेडिसिन,ऑफथेलमोलॉजी, इएनटी, टीबी व चेस्ट डिजीजी शामिल है।

चिकित्सालय में विभिन्न प्रकार की होती है जांचें
कलक्टर को बताया कि जिला चिकित्सालय में कोविड-19 टैस्टिंग लैब, ब्लड इन्वेस्टिगेशन लैब, ब्लड बैंक, एक्सरे, अल्ट्रा सोनोग्राफी, एनसीडी, हेड एंड होल्ड बॉडी, बायो केमेस्ट्री, सेरोलॉजी, जनरल मार्कर व इसीजी की सुविधाएं उपलब्ध हैं। ओपीडी में प्रतिदिन 1213 मरीज आते हैं। इनमें गरीब तबके के मरीजों की संख्या अधिक होती है। आइ सर्जरी में जिला प्रदेश में दूसरे नंबर पर रहा। जनवरी माह में चिकित्सालय में सीजेरियन प्रसव के 160 प्रकरण हुए। यह एक रिकॉर्ड है। यहां वृद्धजनों के लिए जैरियाट्रिक वार्ड है। इसमें एक-एक लाख रुपए के ऐटोमैटिक 10 रिमोट संचालित है। इस वार्ड में बेहतरीन सुविधाओं सहित हर समय सॉफ्ट म्यूजिक चलता रहता है, जिसमें मरीजों को भजन व गुरवाणी सुनवाई जाती है।

कायाकल्प व एसएनसीयू प्रदेश में द्वितीय स्थान पर
जिला चिकित्सालय एसएनसीयू प्रदेश में द्वितीय स्थान पर रहा तथा कायाकल्प में 2019-20 में इसका स्थान प्रथम रहा। जिला कलक्टर ने जिला चिकित्सालय के उत्कृष्ट प्रदर्शन की सराहना की। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में श्रीगंगानगर जिले का जिला चिकित्सालय का कार्य कोरोना काल में भी बेहतरीन रहा। कोरोना के बावजूद ओपीडी में मरीजों की संख्या बढ़ी है तथा सभी को इलाज मिला है। इस मौके पर सीएमएचओ डॉ.गिरधारी लाल मेहरड़ा, पीएमओ डॉ.चौहान, डॉ.केएस कामरा सहित सीनियर डॉक्टर्स मौजूद रहे।

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned