गौंडर एनकाउंटर की जांच में ब्लड रिपोर्ट का इंतजार

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

By: vikas meel

Published: 24 Jul 2018, 08:43 PM IST

श्रीगंगानगर.

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की गाइड लाइन के अनुसार गैंगस्टर विक्की गौंडर एनकाउंटर मामले की मजिस्ट्रेट जांच में जांच अधिकारी को ब्लड रिपोर्ट का इंतजार है। जिला कलक्टर के आदेश पर अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) इस मामले की जांच कर रहे हैं। गैंगस्टर विक्की गौंडर उसके दो साथियों प्रेमा लाहौरिया और सविन्द्र सिंह को पंजाब पुलिस ने इसी साल 26 जनवरी को हिन्दुमलकोट क्षेत्र के गांव पक्की के पास दर्शनसिंह की ढाणी में हुए एनकाउंटर में मार गिराया था।


गौंडर पंजाब का कुख्यात गैंगस्टर था और उसके खिलाफ हत्या, अपहरण और लूट के कई मामले पंजाब के विभिन्न थानों में दर्ज थे। जेल से फरार होने के बाद गौंडर पुलिस की नजर से बचने के लिए नित नए ठिकाने बदल रहा था। दर्शन सिंह की ढाणी में वह एनकाउंटर से तीन दिन पहले आया था, जिसकी भनक पंजाब पुलिस को लग गई और फिर राजस्थान पुलिस को बिना सूचना दिए एनकाउंटर कर दिया।

 

अब तक यह हुआ

जांच अधिकारी अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) एनकाउंटर में शामिल पंजाब पुलिस के अधिकारियों और शवों का पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सकों के बयान ले चुके हैं। हथियारों से संबंधित रिपोर्ट के अलावा विसरा, एफएसएल और विसरा रिपोर्ट जांच अधिकारी को मिल गई लेकिन ब्लड रिपोर्ट अभी तक नहीं मिली है। तीनों मृतकों के परिजनों में से कोई भी एनकाउंटर के संबंध में बयान देने के लिए जांच अधिकारी के समक्ष उपस्थित नहीं हुआ जबकि जांच शुरू करने से पहले तीनों के परिजनों को जांच के सिलसिले में बयान देने के लिए नोटिस जारी किए गए और इस आशय की सूचना पंजाब के अखबारों में प्रकाशित करवाई।

' ' एनकाउंटर मामले में मृतकों के परिजनों की ओर से कोई बयान देने के लिए नहीं आया। शेष प्रक्रिया लगभग पूरी हो चुकी है। ब्लड रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं, जिसके मिलने पर रिपोर्ट जिला कलक्टर को सौंप दी जाएगी।
- नख्तदान बारहठ, अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) श्रीगंगानगर

Show More
vikas meel
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned