scriptCapture's turmeric lump is getting heavy in the hope of profit | Sri Ganganagar मुनाफे की उम्मीद में कैप्चर की हल्दी गांठ पड़ रही भारी | Patrika News

Sri Ganganagar मुनाफे की उम्मीद में कैप्चर की हल्दी गांठ पड़ रही भारी

Sri Ganganagar Capture's turmeric lump is getting heavy in the hope of profit- हल्दी की गांठ से फायदे की बजाय लगेगा तगड़ा झटका

श्री गंगानगर

Updated: March 21, 2022 01:02:41 pm

श्रीगंगानगर. हल्दी की गांठ का उपयोग कई तरह के टोटकों में होता है। इसका पीस कर मसाले के रूप में उपयोग करने के साथ-साथ दर्द निवारक के रूप में भी उपयोग किया जाता है। हल्दी को गुणों की खान बताया गया है। लेकिन मुनाफे की उम्मीद में हल्दी गांठ को कैप्चर करना यहां के कई व्यापारियों को भारी पडऩे वाला है। हल्दी गांठ पर किया उनका कैप्चर वाला टोटका उलटा पड़ेगा और उन्हें ऐसी पीड़ा देगा जो पीसी हुई हल्दी दूध में घोल कर पीने से भी लंबे समय तक दूर नहीं होगी।
Sri Ganganagar मुनाफे की उम्मीद में कैप्चर की हल्दी गांठ पड़ रही भारी
Sri Ganganagar मुनाफे की उम्मीद में कैप्चर की हल्दी गांठ पड़ रही भारी
हल्दी गांठ पर यहां के कई व्यापारियों ने ग्वार जैसी तेजी आने की उम्मीद में दांव लगाया और काफी बड़ी मात्रा में इसका स्टॉक कर लिया। गत वर्ष फसल खराब होने और कोरोना के चलते हल्दी की मांग बढऩे के कारण हल्दी के भावों में अप्रत्याशित तेजी आने की संभावना सटोरिये व्यक्त कर रहे थे। बस इसी संभावना के चलते कई व्यापारियों ने हाथ मिलाकर हल्दी गांठ का बड़ा स्टॉक कैप्चर कर लिया ताकि दुगने-तिगुने भाव मिलने पर इसे बेच कर वारे-न्यारे कर लिए जाए।
हल्दी गांठ कैप्चर करने वाले व्यापारियों ने अपना स्टॉक कोल्ड स्टोर में रखवा रखा है ताकि वह खराब नहीं हो। कोल्ड स्टोर में हल्दी गांठ की सैकड़ों बोरियां बिकने का इंतजार कर रही है। मुनाफे की उम्मीद में रखा गया यह स्टॉक कब बाहर आएगा, इसके बारे में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता।
वैसे बड़े घाटे की चपेट में आने से बचने के लिए कैप्चर करने वाले व्यापारी इस स्टॉक को नई फसल आने तक शायद ही बचा कर रखें, क्योंकि तब उनका घाटा और बढ़ जाएगा। इधर, थोक व्यापारी पवन का कहना है कि पिछले 20 दिनों से हल्दी के भाव में उतार-चढ़ाव आया है। इसकी मुख्य वजह नई फसल की एकाएक आवक बढ़ने और वायदा कारोबार में अग्रिम सौदे नही होना है।
पिछले 4 दिनों से हल्दी के दाम में फिर से सुधार हुआ है। उधर, ब्रोकर ललित शर्मा का कहना है कि हल्दी में एकाएक तेजी आई तो लोगों ने स्टॉक कर लिया था लेकिन जैसे-जैसे नई फसलों की आवक बढ़ी है वैसे वैसे हल्दी के नखरे दूर हो रहे हैं।
इस बीच व्यापारियों की मानें तो हल्दी की तेजी की वजह से काफी मात्रा में स्टॉक कर लिया गया था लेकिन वायदा कारोबार ने हल्दी के अग्रिम सौदों को आउट कर दिया, इस वजह से हल्दी में एकाएक मंदी आ गई। इलाके के कई व्यापारियों को इस वजह से लाखों रुपए का नुकसान उठाना पड़ा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

जापान में पीएम मोदी का जोरदार स्वागत, टोक्यो में जापानी उद्योगपतियों से की मुलाकातज्ञानवापी मस्जिद मामलाः सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हुई एक और याचिका, जानिए क्या की गई मांगऑक्सफैम ने कहा- कोविड महामारी ने हर 30 घंटे में बनाया एक नया अरबपति, गरीबी को लेकर जताया चौंकाने वाला अनुमानसंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजरबिहार में भीषण सड़क हादसा, पूर्णिया में ट्रक पलटने से 8 लोगों की मौतश्रीनगर पुलिस ने लश्कर के 2 आतंकवादियों को किया गिरफ्तार, भारी संख्या में हथियार बरामदGood News on Inflation: महंगाई पर चौकन्नी हुई मोदी सरकार, पहले बढ़ाई महंगाई, अब करेगी महंगाई से लड़ाईकोरोना वायरस का नहीं टला है खतरा, डेल्टा-ओमिक्रॉन के बाद अब दो नए सब वैरिएंट की दस्तक से बढ़ी चिंता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.