आंतरिक जांच दल के 76 गंभीर मीमो का सीबीइओ ऑफिस नहीं दे रहा जवाब

-सीबीइओ ऑफिस श्रीगंगानगर में 38 करोड़ का गबन प्रकरण

आंतरिक जांच दल के 76 गंभीर मीमो का सीबीइओ ऑफिस नहीं दे रहा जवाब

-सीबीइओ ऑफिस श्रीगंगानगर में 38 करोड़ का गबन प्रकरण
—पत्रिका पड़ताल—

श्रीगंगानगर. प्रारंभिक शिक्षा एवं पंचायती राज (प्रांरभिक शिक्षा) राजस्थान बीकानेर की आंतरिक जांच दल की जांच पूरी नहीं हो रही है। जांच दल को सीबीइओ ऑफिस श्रीगंगानगर रेकॉर्ड तक उपलब्ध नहीं करवा रहा। इसके चलते सीबीइओ ऑफिस श्रीगंगानगर में हुए 38 करोड़ रुपए के गबन प्रकरण की जांच प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ रही। इसे लेकर जांच दल ने निदेशक प्रांरभिक शिक्षा विभाग को लिखा है। इसमें कहा गया है कि सीबीइओ ऑफिस श्रीगंगानगर की वर्ष 2003-04 से 2014-15 तक के लेखों की आंतरिक जांच की जा रही है। जांच दल ने 12 फरवरी 2020 तक 141 मीमो सीबीइओ कार्यालय को जारी किए गए। इनमें 76 गंभीर प्रकृति के मीमो के कोई जवाब अभी तक नहीं दिए जा रहे। जबकि 65 मीमो के आधे-अधूरे जवाब दिए हैं। इस कारण विभाग की आंतरिक जांच आगे नहीं बढ़ पा रही। उल्लेखनीय है कि सीबीइओ ऑफिस की छह माह से जांच पूरी नहीं हो रही।

सीबीइओ ऑफिस में प्रतिनियुक्ति पर रहे पीटीआइ ओमप्रकाश शर्मा ने 38 करोड़ रुपए का गबन किया था। इसमें इस ऑफिस में रहे एक दर्जन अधिकारियों और कर्मचारियों की भूमिका रही है। जिला कोष कार्यालय की भूमिका भी सामने आई है।

—------------—

शिक्षा विभाग के तीन कार्मिक नहीं दे रहे चार्ज--सीबीइओ ऑफिस में 31 जुलाई 2019 को जब 38 करोड़ रुपए के गबन प्रकरण का खुलासा हुआ था तब ऑफिस में पांच कार्मिक तैनात थे। इनमें एक कार्मिक की मौत हो गई तथा एक ने चार्ज दे दिया। तीन कार्मिक अभी भी रेकॉर्ड जमा नहीं करवा रहे। इसको लेकर सीबीइओ ऑफिस की जांच से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य प्रभावित हो रहा है। इसे लेकर अतिरिक्त मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी श्रीगंगानगर गोपाल कृष्ण ने जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक (मुख्यालय)निदेशक प्रांरभिक शिक्षा व संयुक्त निदेशक को लिखा है कि साढ़े छह माह से सीबीइओ ऑफिस कार्मिक बार-बार लिखने के बावजूद चार्ज नहीं दे रहे। इनमें कार्मिक सीताराम,राजेश कुमार,अंकुर सक्सेना चार्ज का लेनदेन नहीं कर रहे। इसमें वरिष्ठ सहायक देवेन्द्र बिश्नोई ने चार्ज सौंप दिया है। उल्लेखनीय है कि इन कार्मिकों का तबादला जिले के विभिन्न स्कूलों में कर दिया था।

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned