पेयजल कनैक्शन के एवज में चौथ वसूली, हंगामे से रोका काम

Chauth recovery in lieu of drinking water connection, work stopped due to uproar- सीवर लाइन के बाद पेयजल पाइप डालकर घर-घर किया जा रहा है कनैक्शन

By: surender ojha

Published: 21 Aug 2021, 11:33 PM IST

श्रीगंगानगर. वाडज़् 37 के जी ब्लॉक में पूवज़् मंत्री राधेश्याम गंगानगर के आवास के पीछे स्थित गली में सीवर लाइन बिछाने के बाद पेयजल पाइप लाइन डाली गई है।

वहां प्रत्येक घर को पेयजल पाइप लाइन से जोडऩे के लिए कनैक्शन की प्रक्रिया चल रही थी कि प्लैम्बरों ने कई घरों से रुपए मांगने शुरू कर दिए। किसी से दो सौ रुपए तो किसी से पांच सौ रुपए प्रति कनैक्शन के एवज में वसूली होने लगी।

सूचना मिलते ही वाडज़् पाषज़्द हेमंत रासरानियां ने वहां हंगामा कर दिया। इन पाषज़्द ने उसी समय इंजीनियर हरीश को बुलाया और उसे कथित वसूली की शिकायत की।

इस दौरान मोहल्लेवासी भी एकत्र हो गए। कई लोगों ने रुपए मांगने की शिकायतों का अंबार लगा दिया। इन लोगों का कहना था कि चारदीवारी में पाइप लाइन फिट कराने के एवज में दो सौ से लेकर पांच सौ रुपए वसूलने के लिए प्लैम्बर अड़ गए।

किसी ने रुपए दिए तो किसी ने यह कहते हुए ओलमा दिया कि सरकार ने जब आरयूआईडीपी को ठेका दिया हुआ है तो फिर कनैक्शन के एवज में रुपए किस आधार पर मांग रहे हो। हंगामा होने पर ठेकेदार के इन प्लैम्बरों को वहां काम बंद करवाकर रवाना कर दिया।

इधर, लोगों ने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। उधर, आरयूआईडीपी के अधिकारियों में इस वीडियो वायरल से खलबली मच गई।सीवर लाइन बिछाने के बाद ठेका कंपनी एल एंड टी कंपनी की ओर से बनाई गई कई जगह सड़कें धंस चुकी है।

सड़कों के निमाज़्ण की गुणवत्ता पर बार बार पाषज़्द और सभापति ने भी सवाल उठाए है लेकिन अभी तक समस्या का समाधान नहीं हो पाया है। हालांकि नोडल एजेंसी आरयूआईडीपी के अधिकारियों ने समय समय पर शिकायतों को मौके पर जाकर सुनी।

जवाहरनगर और ब्लॉक एरिया के बाद अब पुरानी आबादी में सीवर लाइन बिछाने का काम चल रहा है। वहां कई जगह सीसी रोड बनाई गई तो कई जगह कारपेट रोड का निमाज़्ण कराया जा चुका है।

वाडज़् पाषज़्द रासरानियां ने बताया कि डोर टू डोर पेयजल कनैक्शन के एवज में कथित वसूली अब बदाज़्श्त नहीं की जाएगी।

इसके लिए जिला प्रशासन को भी अवगत कराया जाएगा। पूरे सिस्टम की मॉनीटरिंग में ही गड़बड़ी चल रही है। इसे रोका नहीं गया तो हालत खराब हो जाएंगे। इंजीनियर को मौके पर बुलाकर काम बंद करवा दिया है।

इधर, आरयूआईडीपी के एसई आशीष गुप्ता का कहना है कि जी ब्लॉक में पेयजल कनैक्शन के दौरान लोकल कामिज़्कों ने चंद लोगों से कथित वसूली करने का प्रयास किया है।

अभी तक पूरी रिपोटज़् नहीं आई है। पूरी जांच रिपोटज़् अधीनस्थ अधिकारियों से मांगी गई है। इसके बाद संबंधित के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा। कनेक्शन के एवज में कोई भी वसूली नहीं कर सकता। यह नियमानुसार गलत है।

surender ojha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned