कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन कर मांगा साफ पेयजल

-दूषित पानी की सप्लाई पर रोक की मांग
-जिला कलक्टर को सौंपा ज्ञापन

By: pawan uppal

Published: 25 Apr 2018, 08:03 AM IST

श्रीगंगानगर.

इंटरनेशनल आदिवासी सामाजिक मंच की तरफ से चल रहे जन जागृति अभियान के तहत मंगलवार को कार्यकर्ताओं ने बनवारी लाल के नेतृत्व में कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया और शहर में साफ पानी सप्लाई कराने की मांग का ज्ञापन कलक्टर को सौंपा। ज्ञापन में बताया कि इन दिनों गंगनहर में पंजाब से दूषित पानी आ रहा है, जो सीधा डिग्गियों में भंडारण किया जा रहा है। यही दूषित पानी शहर के पुराने और नए वाटरवक्र्स से पूरे शहर को सप्लाई किया जा रहा है, जिसे लोग पी रहे हैं और खाना आदि बनाने के काम में ले रहे हैं। आरोप लगाया कि दोनों वाटरवक्र्स में फिल्टर प्लांट बंद हैं। गंदा पानी पीने से लोग बीमारियों के शिकार हो रहे हैं। कार्यकर्ताओं ने ज्ञापन में साफ पानी की आपूर्ति करने की मांग की।


खराब हो सकते हैं हालात
जलदाय विभाग के दावों के विपरीत ज्यादातर घरों में दूषित पानी सप्लाई हो रहा है। अभी लोग उल्टी, दस्त जैसी सामान्य बीमारियों से ही पीडि़त हैं। अगर समय रहते दूषित पानी पर रोक नहीं लगाई गई तो स्थिति और भी खराब हो सकती है।


सप्लाई आने पर करीब दस से पन्द्रह मिनट तक पानी गंदा आता है। पानी में बदबू आती है, इस कारण हम काफी देर तक पानी को नाली में छोड़ देते हैं। फिर साफ पानी को डिग्गी और टंकी में डालते हैं।
लक्ष्मी, गृहणी, वार्ड 14, पुरानी आबादी।

करीब एक महीने से पानी साफ नहीं आ रहा है। घर में
कैंडल वाला फिल्टर लगा है जो गंदे पानी के कारण आए दिन खराब हो जाता है। कैंडल बदलने के बाद भी पानी में बदबू आती रहती है।
कान्ता शर्मा, वार्ड 14, पुरानी आबादी।

वाटर वक्र्स से आने वाला पानी मटमैला होता है। पहले हमने सोचा कि हमारे ही पानी गंदा आ रहा होगा, लेकिन पड़ोस के दो-तीन घरों में भी देखा तो वहां भी पानी गंदा आ रहा है।
अनीता, गृहणी, टावर के पास, पुरानी आबादी।

सप्लाई का पानी साफ नहीं है, लेकिन मजबूरी में यही पानी पीने और खाना आदि पकाने में इस्तेमाल हो रहा है। बच्चे बीमार हो रहे हैं। पहले पानी सीधा टंकी में जा रहा था, बच्चा बीमार हुआ तो पता चला कि पानी ही गंदा आ रहा है।
संतोष देवी, वार्ड 11, पुरानी आबादी।

वाटरवक्र्स का पानी बहुत गंदा आ रहा है। फिल्टर भी खराब हो गया है। घर में सभी को उल्टी-दस्त हो गए हैं। यही पानी पीने के लिए इस्तेमाल करना मजबूरी है। पानी खरीद नहीं सकते हैं।
कल्पना यादव, वार्ड 11, पुरानी आबादी।

Show More
pawan uppal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned