सख्ती का असर, दिखने लगा काम

सख्ती का असर, दिखने लगा काम

jainarayan purohit | Publish: Sep, 09 2018 11:12:51 AM (IST) Sri Ganganagar, Rajasthan, India

श्रीगंगानगर.

मुख्यमंत्री की गौरव यात्रा का चुनावी लिहाज से भाजपा को फायदा मिले या नहीं लेकिन असर देखने को जरूर मिलने लगा। गुरुवार रात सुखाडि़या सर्किल पर जब शहर में पानी निकासी और सडक़ों की बिगड़ी हालत की हकीकत से सीएम रूबरू हुईं तो उन्होंने सूरतगढ़ रोड स्थित केएलएम रिसोर्ट जाकर स्वायत्त शासन मंत्री श्रीचंद कृपलानी, नगर परिषद आयुक्त सुनीता चौधरी और नगर विकास न्यास अध्यक्ष संजय महिपाल की क्लास लगाई। मुख्यमंत्री ने साफ कहा कि कोई विभाग काम नहीं करता है तो एक्शन क्यों नहीं लिया गया।

जनता सिर्फ काम चाहती है नौटंकी नहीं। सीएम की फटकार के बाद स्वायत्त शासन मंत्री और न्यास अध्यक्ष ने शहर के कई वार्डों में जाकर सडक़ों की हालात देखी। सीवर प्रभावित एरिया में चैम्बर और सडक़ों की हालत देखने के बाद तत्काल इसकी रिपोर्ट सीएम को दी।


नाराजगी पड़ी भारी, नगर परिषद आयुक्त एपीओ
करीब पांच महीने पहले मार्च में जब सीएम ने इलाके का दौरा किया तब नगर परिषद आयुक्त सुनीता चौधरी को तवज्जो मिली थी लेकिन पिछले चौबीस घंटे में गौरव यात्रा पर आई सीएम को यह फीडबैक मिला कि आयुक्त शहर की सफाई, सडक़ों का निर्माण, पानी निकासी, रोड लाइट के अलावा विभिन्न निर्माण कार्यों पर सख्त कदम उठाने की बजाय ढुलमुल रवैया अपनी रही थी। एेसे में सीएम ने गुरुवार रात को ही आयुक्त को केएलएम रिसोर्ट में बुलाकर आयुक्त को फटकार लगाई।

सीएम के आदेश पर राज्य के शासन सचिव भास्कर ए,सावंत ने रात को ही नगर परिषद आयुक्त चौधरी को एपीओ कर दिया। उन्होंने जिला कलक्टर करौली के यहां उपस्थिति देनी होगी। स्वायत्त शासन मंत्री श्रीचंद कृपलानी से पत्रकारों ने सवाल किया किआयुक्त को ही शहर की बिगड़ी हालात के लिए जिम्मेदार कैसे माना और सभापति बराबर के दोषी नहीं है, इस पर मंत्री कृपलानी का कहना था कि सीएम ने खुद प्रसंज्ञान लिया है। इस बारे में वे कुछ नहीं कह सकते।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned