पदमपुर रोड पर 9 ए टोल नाका पर अस्थायी कमरा निर्माण को लेकर विवाद बढ़ा

-पीडब्ल्यूडी,पटवारी व तहसीलदार ने कहा कि सरकारी भूमि पर कमरा निर्माण नहीं करने दिया जाएगा

By: Krishan chauhan

Published: 16 Jun 2021, 10:40 AM IST

पदमपुर रोड पर 9 ए टोल नाका पर अस्थायी कमरा निर्माण को लेकर विवाद बढ़ा

-पीडब्ल्यूडी,पटवारी व तहसीलदार ने कहा कि सरकारी भूमि पर कमरा निर्माण नहीं करने दिया जाएगा


श्रीगंगानगर. तीन कृषि कानूनों को वापस लेने और एमएसपी पर कृषि जिन्सों की खरीद के लिए गारंटी कानून बनाने की मांग को लेकर किसानों का पिछले छह माह से आंदोलन चल रहा है। पदमपुर रोड़ स्थित 9 ए टोल नाका के पास किसानों ने धरना लगा रखा है और टॉल फ्री करवा रखा है। बारिश,आंधी व तूफान में किसानों का यहां तंबू आदि हर बार उड़ जाता है। इस कारण टोल नाका स्थल पर किसानों ने मंगलवार को अस्थाई कमरा निर्माण करने की कार्रवाई शुरू की। इस पर प्रशासन के साथ किसानों का विवाद की आंशका बढ़ गई। किसानों ने कहा कि यदि कमरा निर्माण नहीं करने दे रहे हो तो फिर टोल नाका पर एक कमरा किसानों के लिए दिलवाया जाए। इसको लेकर किसानों,टोल नाका कर्मचारियों व प्रशासन के बीच विवाद होता रहा।

जब तक आंदोलन जारी रहेगा,अस्थाई निर्माण करवाया जाएगा

जीकेएस के संयोजक रणजीत सिंह राजू,प्रवक्ता संतवीर सिंह,चूनावढ़ ब्लॉक अध्यक्ष रामकुमार सहारण,टहल सिंह,अवतार सिंह,बबू सिंह,सुरेंद्र सिंह,राजेंद्र सिंह सहित बड़ी संख्या में किसानों ने वहां पर नारेबाजी की और किसान अड़ गए कि जब तक किसान आंदोलन चलेगा,किसान टोल नाका पर अस्थाई तौर पर कमरा का निर्माण करेगा। पहले मौके पर तहसीलदार संजय अग्रवाल व चूनावढ थाना प्रभारी परमेश्वर सुथार ,पटवारी निर्मल सिंह आदि के साथ बातचीत होती रही। किसानों ने पटवारी की कार्यशैली को लेकर विरोध किया।

मामला बढ़ा तो एसडीएम पहुंचे मौके पर

मामला नहीं निपटता तो फिर एसडीएम उम्मेद सिंह रत्नू व सीओ ग्रामीण भंवर लाल आदि मौके पर पहुंच गए। किसानों से वार्ता कर मामला शांत किया गया। एक घंटा तक काफी विवाद चलता रहा। किसान बड़ी संख्या में इधर-उधर गांवों से 9 ए टोल नाका पर एकत्रित हो गए। एसडीएम रतनू से वार्ता के बाद किसानों को टोल नाका पर एक कमरा देना तय किया गया। इसके बाद मामला शांत हुआ।

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned