कोरोना वायरस: मास्क खरीदने के लिए मालामाल हो गई जिला परिषद

Corona virus: Zilla Parishad to buy masks- दो सांसदों और छह एमएलए के कोटे से एकत्र होगी करीब एक करोड़ रुपए की राशि.

By: surender ojha

Published: 27 Mar 2020, 10:27 PM IST

श्रीगंगानगर. राज्य सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिए अब ग्रामीण क्षेत्र में लोगों और चिकित्सा सेवाओं में लगे कार्मिकों को मास्क खरीदने के लिए विधायकों को उनके कोटे से एक एक लाख रुपए की बजाय पांच-पांच लाख रुपए खर्च करने की सीमा बढ़ा दी है।

वहीं श्रीगंगानगर और बीकानेर सांसदों ने भी अपने कोटे से धनराशि देने की स्वीकृति दे दी है। इससे जिला परिषद को करीब एक करोड़ रुपए का फंड एकत्र होगा। इस फंड से मास्क, सैटीलाइजर व चिकित्सा कर्मियों की विशेष ड्रेस खरीद की जाएगी। जिला परिषद ने इस संबंध में मास्क खरीदने के लिए एक फर्म से अनुबंध भी कर लिया है। वहीं सैटीीलाइजर के लिए शुगर मिल से संपर्क साधा है।

शुगर मिल सैटीलाइजर का निर्माण करवा रही है, ऐसे में वहां से पचास रुपए की दर से यह सेटीलाइजर खरीदने की प्रक्रिया चल रही है। जिला परिषद को श्रीगंगगानगर संसदीय क्षेत्र के सांसद निहालचंद मेघवाल ने अपने एमपी कोटे से जिला परिषद को 35 लाख रुपए का बजट उपलब्ध कराया है।

वहीं बीकानेर सांसद और केन्द्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने अनूपगढ़ विधानसभा क्षेत्र के लिए चार लाख रुपए दिए है। यह विधानसभा उनके संसदीय क्षेत्र में आती है। इधर, जिले के छह विधायकों ने पहले एक-एक लाख रुपए से मास्क खरीदने के लिए जिला परिषद को अधिकृत किया था।

लेकिन राज्य सरकार ने अब प्रत्येक विधायक को पांच पांच लाख रुपए एमएलए कोटे से जारी करने की छूट दे दी है। ऐसे में श्रीगंगानगर विधानसभा के विधायक राजकुमार गौड़ ने छह लाख रुपए की राशि स्वीकृत की है, अन्य विधायकों की राशि तीस लाख रुपए भी अगले चौबीस घंटे में जिला परिषद के खजाने में जमा हो जाएगी। इसके अलावा विधायकों ने दानदाताओं से भी फंड जुटाने के लिए प्रयास तेज किए है। उम्मीद है कि पूरा एक करोड़ रुपए का फंड हो जाएगा।
इस बीच जिला परिषद प्रशासन ने अलग अलग फर्मो से कोटेशन मांगी है। इसमें 19 रुपए, 24 रुपए और 30 रुपए प्रति मास्क की दर बताई गई लेकिन एक फर्म शिवा इंटरप्राइजेज ने तीन लेजर और 70 जीएसएम मार्का वाले मास्क की कीमत छह रुपए बताई, नगोशियन के बाद यह दर पांच रुपए प्रति मास्क के हिसाब से अनुबंध हुआ है।

इसके अलावा पचास रुपए में शुगर मिल प्रशासन से सैटीलाइजर खरीदे जाएंगे। इधर, विभिन्न फर्मो से चिकित्सा उपकरण और चिकित्सा कर्मियों के लिए विशेष ड्रेस की खरीद की जाएगी।
इधर, जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉक्टर हरीतिमा का कहना है कि इस महामारी से बचने के लिए चिकित्सा उपकरण, मास्क आदि की खरीदने के लिए विधायकों और सांसदों ने अपने अपने कोटे से राशि देने की घोषणा की है। इसके अलावा अन्य दानदाता भी फंड देने के लिए आगे आएंगे। संबंधित उपकरण खरीदने की कवायद शुरू हो चुकी है।

Corona virus
surender ojha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned