scriptक्राइम रिपोर्ट: जिले में जवाहरनगर थाने में सबसे ज्यादा दर्ज हुए मामले | Patrika News
श्री गंगानगर

क्राइम रिपोर्ट: जिले में जवाहरनगर थाने में सबसे ज्यादा दर्ज हुए मामले

– श्रीगंगानगर के 18 थानों में महिला थाना और मटीलीराठान सबसे शांत क्षेत्र
क्राइम रिपोर्ट: जिले में जवाहरनगर थाने में सबसे ज्यादा दर्ज हुए मामले

श्री गंगानगरJun 02, 2024 / 04:44 pm

surender ojha

श्रीगंगानगर. इलाके की कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस की सख्ती हो रही है, ऐसे में अपराधिक प्रकरणों की संख्या भी बढ़ने लगी है। हालांकि अन्य जिलों की तुलना में श्रीगंगानगर जिला शांत हैं। थानों में दर्ज होने वाले मामलों के आंकड़ों की गणना की जाएं तो सबसे ज्यादा जवाहरनगर पुलिस थाने में दर्ज हुई है। क्राइम रेट निकाली जाए तो सबसे सुरक्षित महिला पुलिस थाना और मटीलीराठान थाना क्षेत्र है। एक जनवरी से लेकर 31 मई माह तक पांच महीनों में सर्वाधित मामले जवाहरनगर थाने में 316 दर्ज होकर टॉप पर हैं। जिले के 18 थानों में एफआइआर दर्ज कर तिहारा शतक जमाने वालों में जवाहरनगर के बाद सदर थाना श्रीगंगानगर और सूरतगढ़ सिटी थाना आगे रहे है। जिले के प्रत्येक थाने का विश्लेषण करें तो जिन थाना क्षेत्रों में हाइवे का क्षेत्र आ रहा है उनमें अधिक मामले दर्ज हो रहे हैं। इनमें सड़क दुर्घटना, लूट, चोरी, मारपीट, दुर्घटना, तस्करी, हत्या या हत्या के प्रयास आदि के मामले अधिक है। इन दिनों शहर के भीतर हेरोइन तस्करी, अवैध शराब, चोरी, दोपहिया वाहन चोरी की वारदातें बढ़ गई है।

क्षेत्राधिकार नियम आने से यहां घट गए मामले

महिलाओं के अत्याचार के संबंधित मामले श्रीगंगानगर सर्किल में होते थे, वे सभी महिला पुलिस थाना में दर्ज होते लेकिन अब नियम बदलने से दुष्कर्म, छेड़छाड़ या अपराधिक हमले के मामले संबंधित थाना क्षेत्र में दर्ज होने लगे है। इस वजह से अब महिला पुलिस थाने में दहेज प्रताड़ना के मामले ही दर्ज हो पा रहे है। इस थाने में इस साल के पांच महीने में सिर्फ 77 एफआइआर दर्ज हुई है।

इस कारण इन थानों में बढ़े मामलों की संख्या


पुलिस प्रशासन ने हेरोइन यानि चिट़टा नशे के कारोबार पर सख्ती की तो नशे तस्करों की धरपकड़ होने लगी। इस वजह से एनडीपीएस प्रकरणों में संख्या भी जवाहरनगर, कोतवाली, पुरानी आबादी और सदर थाने में बढ़ी है। वहीं साइबर थाना स्थापित किया गया लेकिन संसाधन नहीं होने के कारण महज छह प्रकरण ही दर्ज हो पाए। ऐसे में संबंधित इलाके में साइबर ठगी के मामले दर्ज होने लगे है।

कैसे बचे अपराध से

इन दिनों चेन और मोबाइल स्नैचिंग के साथ ही साइबर क्राइम भी बढ़ गया है। ऐसे में घर से निकलते समय खासकर, महिलाओं को विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। सूनसान क्षेत्र में जाने से बचना चाहिए। साथ ही मोबाइल और चेन को कपड़ों में रखना चाहिए। साइबर क्राइम से बचने के लिए अनजान कॉल नहीं उठाए, किसी अनजान व्यक्ति को ओटीपी, आधारकार्ड या अन्य दस्तावेज उपलब्ध नहीं करवाए। अनजान व्यक्तियों से जरूरी हो उतनी ही बात करें, उन्हें घर में प्रवेश नहीं दें।अपराध रोकने में ऐसे निभाएं भागीदारी- संदिग्ध व्यक्ति दिखने पर संबंधित थाने या पुलिस कंट्रोल रूम के 100 नंबर पर फोन करें।
– घर में किरायेदार रखने से पूर्व संबंधित पुलिस थाने से उनका वेरिफिकेशन करवाएं।
– धोखाधड़ी या अन्य अपराध होने पर पुलिस को सूचित करें। जहां तक संभव हो मकान को सूना छोड़कर बाहर न जाएं।

थानों का रिपोर्ट कार्ड

थाने का नाम अब दर्ज एफआइआर
जवाहरनगर 316
सदर श्रीगंगानगर 311
कोतवाली 288
पुरानी आबादी 184
महिला थाना 077
गजसिंहपुर 092
केसरीसिंहपुर 123
पदमपुर 169
घमूड़वाली 109
लालगढ़ जाटान 143
मटीलीराठान 081
चूनावढ़ 091
हिन्दुमलकोट 129
सादुलशहर 191
श्रीकरणपुर 155
सूरतगढ़ सिटी 310
सूरतगढ़ सदर 181
राजियासर 145

Hindi News/ Sri Ganganagar / क्राइम रिपोर्ट: जिले में जवाहरनगर थाने में सबसे ज्यादा दर्ज हुए मामले

ट्रेंडिंग वीडियो