चिकित्सक की मांग पर ग्रामीणों का धरना

vikas meel

Publish: Mar, 14 2018 08:53:57 PM (IST)

Sri Ganganagar, Rajasthan, India
चिकित्सक की मांग पर ग्रामीणों का धरना

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर की मांग के लिए ग्रामीणों ने अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया।

चिकित्सक की मांग पर ग्रामीणों का धरना

 

रत्तेवाला.

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर की मांग के लिए ग्रामीणों ने अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया। पहले दिन धरने पर धार्मिक व सामाजिक संस्थाओं के सहयोग से ग्रामीणों ने इकट्ठा होकर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र रत्तेवाला अस्पताल को ताला लगाया। इस दौरान अस्पताल के सभी कर्मचारी अंदर बद रहे। शाम को छह बजे के बाद उन्हें जाने दिया गया। इसके बाद सभी ग्रामीणों ने निर्णय किया कि अस्पताल पर अनिश्चितकालीन ताला लगाकर धरना जारी रहेगा। इस दौरान किसी भी कर्मचारी को 15 मार्च से अंदर नहीं जाने दिया जायेगा।

Video : सूरतगढ़ सिटी थाने का एसआई रिश्वत लेते पकड़ा

शाम पांच बजे तहसीलदार संजय कुमार गुप्ता पदमपुर से धरना स्थल पर पहुंचे और लोगों से बात की। तहसीलदार ने कहा कि ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी छुट्टी पर है। आप दो- तीन लोग पदमपुर आएं, वहां बात कर लेंगे। परंतु आंदोलनकारी माने नहीं। आंदोलनकारियों व तहसीलदार में एकबार तो तनाव की स्थिति बन गई लेकिन कुछ लोगों ने बात को आगे बढऩे नहीं दिया। ग्रामीणों ने स्पष्ट चेताया कि वे 15 माह से परेशानी भुगत रहे हैं। बिना चिकित्सक के उन्हें इलाज के लिए बाहर जाना पड़ता है। जब तक समस्या का समाधान नहीं होगा, तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

पशुओं से निजात नहीं मिली तो फिर कोर्ट की दस्तक

पूर्व डायरेक्टर करनैलसिंह कंदोलिया के नेतृत्व में चल रहे आंदोलन में कुलदीपसिंह संधू, केवलसिंह संधू, धर्मपाल वर्मा, बसीराम करेड़ा, गुरजीतसिंह संधू, भीमसैन मागल, रामदास बीका, डॉ. भूषणकुमार मखीजा, ओमप्रकाश सगवाल, नरेशकुमार मिगलानी, सोमनाथ मागल सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण शामिल थे।

राजस्थान के इस शहर में हुआ भयानक सडंक हादसा देखकर कांप जाएगी आपकी रूह

पुलिस मार्च, तलाशी अभियान के बाद भी नहीं रुकी वारदात

एक सप्ताह में बढ़ा पांच डिग्री तापमान, महसूस होने लगा गर्मी का असर

Video : दिनदहाड़े सीआईडी इंस्पेक्टर की पत्नी से बाइक सवारों ने पर्स छीना

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned