नगर पालिका अध्यक्ष और ईओ में तनातनी

Dispute : नगर पालिका की मंगलवार को हुई बजट बैठक में नगरपालिका अध्यक्ष और कार्यवाहक अधिशासी अधिकारी का विवाद खुलकर सामने आ गया।

-चेयरमैन की बुलाई बैठक में दस कदम दूर चैंबर से उठकर नहीं आए ईओ विश्वास गोदारा
-चैयरमैन जोहिया बोली, मैने दी है ईओ को सूचना, ईओ बोले मेरे हस्ताक्षर से तो बुधवार को बैठक के आदेश हुए थे

श्रीकरणपुर. नगर पालिका की मंगलवार को हुई बजट बैठक में नगरपालिका अध्यक्ष और कार्यवाहक अधिशासी अधिकारी का विवाद खुलकर सामने आ गया। इस बैठक की तिथि पहले 12 फरवरी को तय की गई थी। इसके आदेश कार्यवाहक अधिशासी अधिकारी विश्वास गोदारा के हस्ताक्षरों से हुए थे, लेकिन बाद में नगर पालिका अध्यक्ष के निर्देश पर इस बैठक के नए आदेश एक वरिष्ठ लिपिक के हस्ताक्षर से जारी हुए तथा बैठक 11 फरवरी को करना निर्धारित कर दिया गया।

निर्धारित दिन यानी मंगलवार को चेयरमैन अनीता जोहिया बैठक के लिए पहुंची। अधिशासी अधिकारी गोदारा मूल रूप से पदमपुर नगर पािलका के अधिशासी अधिकारी हैं तथा उनके पास श्रीकरणपुर का अतिरिक्त कार्यभार है। मंगलवार को जोहिया के कार्यालय पहुंचने के साथ ही गोदारा भी कार्यालय पहुंच गए लेकिन बैठक में शामिल नहीं हुए।

ऐसे में जोहिया ने बैठक की कार्रवाई शुरू कर दी। इस दौरान बैठक में नगर पालिका के कुल बीस पार्षदों में से भजपा के दस पार्षद तथा दो कांग्रेस पार्षद तथा उपाध्यक्ष श्याम सुंदर कंबोज मौजूद थे। पालिका के कुल बीस पार्षदों में 13 भाजपा के हैं तथा इनमें अध्यक्ष उपाध्यक्ष के अलावा दस पार्षद उपस्थित थे जबकि एक पार्षद शहर से बाहर बताया गया है। इस प्रकार भाजपा के पार्षद तो बैठक में आए लेकिन कांग्रेस के पांच पार्षदों ने भी बैठक का बहिष्कार किया तथा वे भी अधिशासी अधिकारी गोदारा के चैंबर में ही जा बैठे।

यूं लगे आरोप-प्रत्यारोप
नगर पालिका अध्यक्ष अनीता जोहिया का आरोप था कि अधिशासी अधिकारी बैठक में उपस्थित नहीं हुए जबकि उन्हें सूचना दी गई थी वहीं अधिशासी अधिकारी विश्वास गोदारा का कहना था कि उनके हस्ताक्षर से बैठक 12 फरवरी को होने की सूचना जारी की गई थी। यह बैठक 11 फरवरी को करवाने के निर्देश किसी लिपिक ने जारी किए हैं तथा वे इसे नहीं मानते। बैठक समाप्त होने के बाद ईओ और नगर पालिका अध्यक्ष में तनातनी होने की जानकारी भी सामने आई है। इस बीच कांग्रेस के पांच पार्षदों ने घटनाक्रम के संंबंध में एसडीएम को ज्ञापन भी सौंपा है।


सूचना के बाद भी नहीं आए ईओ
हमनें बैठक की सूचना अधिशासी अधिकारी को भिजवाई थी। जब वे बैठक के लिए नहीं पहुंचे तो इस संबंध में प्रभारी अधिकारी लिपिक योगेश कुमार को लिखित आदेश देकर बैठक में बुलाया गया है। उनकी उपस्थिति में बैठक हुई है।
-अनीता जोहिया, अध्यक्ष, नगर पलिका, श्रीकरणपुर

बैठक तो कल है
मेरे हस्ताक्षर से बैठक बुधवार को होने की सूचना जारी की गई थी। इसे मंगलवार को करवा दिया गया तथा इसके आदेश किसी लिपिक ने जारी किए हैं। मैं इन आदेशों को स्वीकार नहीं करता। यह बैठक नियम विरुद्ध है तथा इस संबंध में जिला कलक्टर और उपखंड अधिकारी को सूचित कर दिया गया है।
-विश्वास गोदारा, अधिशासी अधिकारी, श्रीकरणपुर नगर पालिका

jainarayan purohit Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned