हड़ताल के कारण शुरू नहीं हुआ उठाव कार्य

-अगर इसके बावजूद वहां माल में घटौती होती है तो इसकी जिम्मेदारी ठेकेदार की होगी।

By: pawan uppal

Published: 16 May 2018, 12:05 PM IST

अनूपगढ़.

समर्थन मूल्य पर एफ.सी.आई. की खरीद की जा रही गेहूं के उठाव में माल में प्रति थैला 500 ग्राम से लेकर दो किलोग्राम की घटौती होने के कारण वेयहर हाउस में माल की तुलाई के बाद ठेकेदार के नाम रिकवरी निकालने से विवाद हो गया तथा ठेकेदार ने धान मंडी में पड़े माल का उठाव बंद कर दिया। बाद में वार्ता में मामला सुलझ जाने के बाद उठाव कार्य शुरू करने पर सहमति बनी लेकिन तब तक लेबर चले जाने से उठाव कार्य शुरू नहीं हो सका तथा आज मंगलवार को सीटू यूनियन की हड़ताल होने के कारण उठाव कार्य शुरूनहीं हुआ।

ऐसे में धान मंडी में खुले में गेहूं के लाखों थैले पड़े है। इससे पूर्व कल माल का उठाव बंद करने के बाद धान मंडी की व्यवस्था बिगड़ती देखकर मंडी के व्यापारी सक्रिय हुए तथा व्यापार मंडल अध्यक्ष महेन्द्रलाल खिरबाट की अध्यक्षता में आनन-फानन में बैठक बुलाई। इसमें अध्यक्ष खिरबाट के अलावा पूर्व अध्यक्ष नरेश नागपाल, नरेन्द्र छाबड़ा उर्फ डब्बू, कोषाध्यक्ष दिनेश गर्ग, सचिव भगवानदास धूडिय़ा, किसान संघ जिलाध्यक्ष जसवंत सिंह चंदी तथा अवतार ङ्क्षसह भंगू सहित अन्य व्यापारी मौजूद थे।


माल में घटौती होने के कारण वेअर हाउस में माल की तुलाई के बाद ठेकेदार के नाम रिकवरी निकाले जाने से ठेकेदार ने उठाव बंद कर दिया था। इस पर बैठक में फैसला किया गया कि माल का तोल व्यापार मंडल के कांटे से करवाया जाकर वेयर हाउस भेजा जाएगा। अगर इसके बावजूद वहां माल में घटौती होती है तो इसकी जिम्मेदारी ठेकेदार की होगी।
-महेन्द्रलाल खिरबाट, अध्यक्ष व्यापार मंडल अनूपगढ़

Show More
pawan uppal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned