आसान होगी दिव्यांगों की डगर, डिजिटल मंच पर पढ़ाई की सुविधा

-विशेष आवश्यकता वाले विद्यार्थियों लिए इ-कंटेंट तैयार करने की गाइडलाइन जारी.-हाइटेक हुआ समावेशी शिक्षण

By: Krishan chauhan

Updated: 09 Jun 2021, 09:57 AM IST

-विशेष आवश्यकता वाले विद्यार्थियों लिए इ-कंटेंट तैयार करने की गाइडलाइन जारी...आसान होगी दिव्यांगों की डगर, डिजिटल मंच पर पढ़ाई की सुविधा

-हाइटेक हुआ समावेशी शिक्षण

-नवाचार
श्रीगंगानगर.कोरोना वायरस पिछले 15 महीने से विद्यार्थियों की पढ़ाई पर ग्रहण की तरह छाया हुआ है। संक्रमण की इन विकट परिस्थितियों में विशेष शिक्षा से जुड़े छात्र-छात्राओं के लिए तो सुचारू शिक्षण एक बड़ी चुनौती बना हुआ है। ऐसे में केंद्र व राज्य शिक्षा विभाग ने इन विद्यार्थियों के लिए आधुनिक इ-कंटेंट तैयार करना शुरु कर रखा है। बच्चों को क्षमताओं और सीमाओं के मध्येनजर चलते मंगलवार को शिक्षा मंत्रालय ने दिव्यांग बच्चों के लिए इ-कंटेंट तैयार करने की गाइडलाइन जारी कर दी है। उल्लेखनीय है कि इ-विद्या योजना के अंतर्गत दिव्यांग बच्चों के लिए ऑनलाइन,डिजिटल व ऑन-एयर शिक्षण में समानता लाने के उद्देश्य से इस गाइडलाइन को तैयार किया गया है। राज्य स्तर पर भी मिशन ज्ञान ट्रस्ट के सहयोग से मूकबधिर विद्यार्थियों के लिए भी इ-कंटेंट तैयार करवाया जा रहा है।

-चार सिद्धांत होंगे मूल आधार
प्रत्येक श्रेणी के दिव्यांग छात्र-छात्राओं के लिए इ-कंटेंट मुख्यत: चार सिद्धांतों पर आधारित होगा। जिसमें पहला समझ योग्य,दूसरा संचालन योग्य,तीसरा बोधगम्य व चौथा सुबोध एवं सशक्त कंटेंट होना आवश्यक है। कि 11 सेक्शन और 2 परिशिष्ट वाली इस रिपोर्ट के माध्यम से दिव्यांग बच्चों का शिक्षण स्तर सामान्य विद्यार्थियों के समान लाने का उद्देश्य रखा गया है।

-निर्धारित मानकों को पूर्ण करना हुआ जरूरी

विद्यार्थियों की जरूरतों के हिसाब से इ-कंटेंट में शामिल टेक्स्ट,टेबल, डाइग्राम, विजुअल,ऑडियो, आदि सभी राष्ट्रीय मानकों जीआइजीडब्ल्यू 2.0 और अंतर्राष्ट्रीय मानकों जैसे डब्ल्यूसीएजी 2.1, इ-पब, डेजी, आदि के अनुरूप होंगे। इसके अलावा इ-कंटेंट के अपलोड किए जाने वाले डिजिटल प्लेटफॉर्म तथा कंटेंट को पढऩे व देखने के लिए काम आने वाले डिवाइसों द्वारा तकनीकी मानकों को पूरा करना आवश्यक होगा।

फैक्ट फाइल

दिव्यांगता की श्रेणियां-21

राज्य में दिव्यांग विद्यार्थी-73707
जिले में संदर्भ कक्ष-9

जिले में विशेष आवश्यकता वाले विद्यार्थी-3046
हनुमानगढ़ जिले में विशेष आवश्यकता वाले विद्यार्थी-1793

पीडब्ल्यूडी एक्ट-2016 में निर्दिष्ट श्रेणियों के अनुसार सीडबल्यूएसएन विद्यार्थियों के अधिगम में कॉनसेप्ट फॉरमेशन की सबसे ज्यादा जरुरत रहती है। नई गाइडलाइन के हिसाब से तैयार मानक इ-कंटेंट दिव्यांग छात्र-छात्राओं के लिए बेहद लाभदायक रहेगा।

-भूपेश शर्मा,समन्वयक,जिला दिव्यांगता प्रकोष्ठ,श्रीगंगानगर

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned