बिजली की छीजत चार प्रतिशत बढकऱ 22 से पहुंची 26 प्रतिशत तक, निगम के लिए छीजत बनी गले की फांस

Krishan Ram | Publish: Sep, 17 2019 05:11:24 PM (IST) | Updated: Sep, 17 2019 05:11:25 PM (IST) Sri Ganganagar, Sri Ganganagar, Rajasthan, India

बिजली की छीजत चार प्रतिशत बढकऱ 22 से पहुंची 26 प्रतिशत तक, निगम के लिए छीजत बनी गले की फांस

श्रीगंगानगर.श्रीगंगानगर वृत में गर्मी के मौसम में बिजली की खपत बढऩे,बिजली चोरी आदि की वजह से बिजली की छीजत बढ़ती जा रही है। वृत में जहां पिछले साल 22 प्रतिशत बिजली छीजत थी लेकिन अब बढकऱ 26 प्रतिशत तक पहुंच गई। पिछले साल की तुलना में चार प्रतिशत छीजत बढऩा निगम के लिए गले की फांस बना हुआ है। जहां बिजली की छीजत कम कर 15 प्रतिशत तक करनी थी लेकिन कम होने की बजाए छीजत बढ़ गई। सबसे ज्यादा बिजली छीजत अनूपगढ़,घड़साना व केसरीसिंपुर में ज्यादा हो रही है। इसको लेकर निगम की चिंता बढ़ती जा रही है। उल्लेखनीय है कि वृत की बैठक में जोधपुर डिस्कॉम के प्रबंध निदेशक (एमडी) अविनाश सिंघवी ने मंगलवार को अधीक्षण अभियंता कार्यालय परिसर स्थित मीटिंग हॉल में अभियंताओं की मीटिंग कर छीजत बढऩे पर सहायक अभियंता व अधिशासी अभियंता अनूपगढ़,घड़साना व केसरीसिंहपुर की क्लांश लगाई तथा अनुशासनात्मक कार्रवाई की बात कहीं।


यहां पर बढ़त जा रही छीजत--अनूपगढ़,घड़साना व केसरीसिंहपुर में छीजत बढ़ती जा रही है। अनूपगढ़ उपखंड में छीजत 31 प्रतिशत तक चल रही थी और अब बढकऱ 34 प्रतिशत तक पहुंच गई। जबकि घड़साना में 35 प्रतिशत से बढकऱ 37 प्रतिशत तक पहुंच गई। केसरीसिंहपुर में बिजली की छीजत पिछले साल 18.8 प्रतिशत थी जो अब 12.66 प्रतिशत बढकऱ 31.46 तक पहुंच गई। यहां पर छीजत कम हुई --इस बीच सादुलशहर ब्लॉक में 23.50 प्रतिशत से 9.7 प्रतिशत छीजत कम कर 13.80 प्रतिशत तक पहुंच गई। श्रीविजयनगर में 38 प्रतिशत से 33 प्रतिशत तक छीजत कम हो गई।

क्यूं बढ़ रही है छीजत--निगम के एक तकनीकी अधिकारी का कहन है कि गर्मी के मौसम में बिजली की खपत ज्यादा होती है। इससे विद्युत ट्रांसफार्मर व विद्युत लाइनों आदि में तकनीकी छीजत बढ़ रही है। साथ ही गर्मी के मौसम में ग्रामीण अंचल में पंखा-कूलर चलाने के लिए कुंडी लगा कर बिजली चोरी की जा रही है। इससे छीजत बढ़ रही है।


श्रीगंगानगर वृत में यूं बढ़ी बिजली छीजत

वर्ष 2018- 22 प्रतिशत
वर्ष 2019- 26 प्रतिशत
एक साल में कितनी बढ़ी- 4 प्रतिशत
अब छीजत कम करने का क्या मिला लक्ष्य-15 प्रतिशत

गर्मी के मौसम में श्रीगंगानगर वृत में बिजली की खपत ज्यादा हो रही है। इस कारण तकनीकी बढ़ रही है। बिजली छीजत पिछले साल की तुलना में इस साल चार प्रतिशत तक बढ़ी है। बढ़ी हुई छीजत कम कर 15 प्रतिशत तक लाने की कोशिश की जा रही है। जहां पर बिजली की छीजत ज्यादा वहां पर कम करने के लिए संबंधित सहायक अभियंता व अधिशासी अभियंता को पाबंद किया है।

केके कस्वां,अधीक्षण अभियंता, जोधपुर डिस्कॉम,श्रीगंगानगर।


श्रीगंगानगर वृत में पिछले साल की तुलना में इस साल बिजली छीजत बढ़ी है। इसको करने के लिए अधिकारियों को पाबंद किया है। जहां पर ज्यादा बिजली चोरी हो रही है उस क्षेत्र को चिन्हित कर वहां पर सतर्कता टीम को कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया है।

अविनाश सिंघवी,एमडी, जोधपुर डिस्कॉम, जोधपुर।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned