मेडिकल कॉलेज निर्माण को लेकर अस्पताल परिसर में हटाया अतिक्रमण

- शाम तक चलती रही कार्रवाई

By: Raj Singh

Published: 20 Feb 2021, 10:00 PM IST

श्रीगंगानगर. राजकीय चिकित्सालय परिसर में मेडिकल कॉलेज निर्माण को लेकर अतिक्रमण हटाने का कार्य किया गया। शनिवार सुबह यहां लीला धर्मशाला के सामने किए गए अतिक्रमण को जेसीबी की मदद से हटा दिया गया। यहां से मलबा हटाने का कार्य शाम तक चलता रहा।


चिकित्सालय के डिप्टी कंट्रोलर डॉ. प्रेम बजाज ने बताया कि लीला धर्मशाला व मेडिकल स्टोर के बीच एक गैलरी पड़ी थी, जिस पर धर्मशाला संचालकों की ओर से चबूतरा बनाकर अतिक्रमण कर रखा था और वही पास में वाटर कूलर लगा दिया गया था। इस गैलरी की लंबाई 305 फुट व चौडाई 37 फुट है।

जिस पर अतिक्रमण हो रहा था। इस अतिक्रमण को हटाने के लिए चिकित्सालय प्रशासन की ओर से कई बार प्रयास किए गए लेकिन मामला अदालत में जाने के बाद कार्रवाई नहीं हो सकी थी। इसको लेकर मेडिकल वालों व धर्मशाला संचालकों के बीच भी विवाद था।

अब मेडिकल कॉलेज निर्माण से पहले नियमों को देखते हुए सडक़ चौड़ी होनी चाहिए। इसको लेकर शनिवार सुबह चिकित्सा अधिकारी, पुलिस जाब्ता मौके पर पहुंच गया और वहां से अतिक्रमण तोड़ दिया गया। यहां कुछ विरोध भी हुआ लेकिन मौके पर पुलिस ने समझाइस कर मामला शांत करवा दिया।


पीएमओ डॉ. बलदेव सिंह चौहान ने बताया कि धर्मशाला के लिए आरक्षित भूमि के अलावा किए गए अतिक्रमण को हटाया गया है। कुछ दिन पहले धर्मशाला संचालकों की एक याचिका कोर्ट ने खारिज कर दी थी। प्रशासनिक अधिकारी धीरज गहलोत ने बताया कि मेडिकल कॉलेज निर्माण को देखते हुए अतिक्रमण तोडऩे का कार्य चल रहा है।

वहीं धर्मशाला संचालक इस तोडफ़ोड़ को गलत बता रहे हैं। कार्रवाई शाम तक चलती रही। इस दौरान चिकित्सालय के अधिकारी, चिकित्सक, नर्सिंगकर्मी व सदर थाने से एसआई ताराचंद मय जाब्ते के मौजूद रहे।

Raj Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned