Video : पूर्व रसद अधिकारी ने कराया पोर्टल से डाटा निकालने का मामला दर्ज

vikas meel

Publish: Oct, 13 2017 08:19:59 (IST)

Sri Ganganagar, Rajasthan, India
Video : पूर्व रसद अधिकारी ने कराया पोर्टल से डाटा निकालने का मामला दर्ज

पूर्व रसद अधिकारी की ओर से एक पूर्व डिपो होल्डर के खिलाफ पोर्टल से डाटा निकालने व फर्जीवाड़ा करने का मामला आईटी एक्ट के तहत दर्ज करवाया गया है।

 

श्रीगंगानगर.

रसद विभाग के पूर्व रसद अधिकारी की ओर से एक पूर्व डिपो होल्डर के खिलाफ विभाग के पोर्टल से डाटा निकालने व फर्जीवाड़ा करने का मामला आईटी एक्ट के तहत दर्ज करवाया गया है। पुलिस के अनुसार एल ब्लॉक निवासी पूर्व रसद अधिकारी सुनील वर्मा ने कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई है कि मुखर्जी नगर निवासी महेन्द्र मेहता पुत्र भगवानदास वार्ड नंबर बारह में उचित मूल्य की दुकान चलाता था। उस समय वे यहां रसद अधिकारी थे। महेन्द्र के खिलाफ शिकायतें मिली थी।

तलाक लेने आई विवाहिता फिर घर बसाने को राजी

जिनकी जांच हुई, जिसको प्रभावित करने के लिए विभाग के पोर्टल से गोपनीय रिपोर्ट हासिल करके सार्वजनिक कर दिया। यह गोपनीय रिपोर्ट विभाग के सॉफ्टवेयर से निकाली गई। इसको हासिल करने का वह हकदार नहीं है। इस पोर्टल को खोलने के लिए रसद अधिकारी को पासवर्ड दिया जाता है। अधिकारियों के अलावा इसको अन्य कोई नहीं खोल सकता। विभाग के कुछ लोगों से मिलीभगत कर यह गोपनीय जानकारी पोर्टल से निकाली गई। पुलिस ने आईटी एक्ट सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया है। मामले की जांच कोतवाल नरेन्द्र पुनिया कर रहे हैं। ।

पूर्व डिपो होल्डर ने लगाए थे आरोप

- पूर्व डिपो होल्डर महेन्द्र मेहता ने भी कुछ माह पहले तत्कालीन रसद अधिकारी के खिलाफ राशन वितरण में गड़बड़ी करने सहित कई आरोप लगाए थे। इसको लेकर कुछ पार्षदों ने रसद अधिकारी सहित अन्य आरोपितों पर कार्रवाई करने की मांग को लेकर जयपुर जाकर मामला उठाया था। वहीं कुछ लोगों ने वहां धरना दिया था। इसके बाद पूर्व रसद अधिकारी को एपीओ कर दिया गया था। ।

इनका कहना है

- पूर्व रसद अधिकारी की ओर से विभाग के पोर्टल से गोपनीय जानकारी निकालने जाने का मामला आईएक्ट के तहत दर्ज कराया है। पुलिस इस मामले जांच कर रही है। ।

नरेन्द्र पूनिया, थाना प्रभारी कोतवाली श्रीगंगानगर।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned