श्रीगंगानगर में मुरझाए चेहरे और छाई वीरानी

Faded faces and desolation in Sriganganagar- अस्थायी दुकानदार और मजदूर बोले, कैसे चलेगा घर .

 

By: surender ojha

Published: 17 Apr 2021, 11:41 AM IST

श्रीगंगानगर. इलाके में कोरोना की दूसरी लहर को रोकने के लिए जिला प्रशासन की ओर से कफ्यूज़् लगा दिया गया है। शनिवार को इलाके के मुख्य चौक चौराहों पर सन्नाटा पसरा रहा।

हालांकि दूध और सब्जियों की बिक्री के लिए रेहड़ी वाले डोर टू डोर पहुंचे तो लोगों ने सब्जियों की खरीद की। दूध की आपूतिज़् बहाल होने से लोगों को कोई परेशानी नहीं आई।

वहीं कचरा संग्रहण करने के लिए ट्रेक्टर ट्रॉलियां भी वाडोज़् में आई। लेकिन कचरा साफ करने के लिए स्टाफ नहीं आया। दवा की दुकानें भी खुली। लेकिन परचनू की दुकानों को लेकर पुलिस कमिज़्यों और दुकानदारों के बीच नोकझोंक भी हुई।

इधर, लॉक डाउन के कारण मजदूरों और अस्थायी दुकानदारों में चिंता बढ़ गई है। थड़ी पर चाय बनाने वाले शंकरलाल का कहना था कि सरकार और कलक्टर ने दो दिन का कफ्यूज़् तो लगा दिया लेकिन हमारे घर का खचज़् कैसे चलेगा, यह तो मूल्यांकन करते। यही हाल समोसे बेचने वाले रेहड़ी वाले आशू का था, वह भी इसी चिंता में है कि मजदूरी नहीं बनेगी तो घर का खचज़् कैसे चलाएगा।

इधर, सब्जी बेचने वाले विष्णु का कहना था कि कोरोना से बचाव के लिए सरकार की नजर में सख्ती होनी चाहिए लेकिन मजदूर के परिवार का भी ख्याल रखना चाहिए। जहां उपचुनाव हो रहे है, वहां कोरोना नहीं है लेकिन यहां तो ऐसी पाबंदियां लगा दी है कि अब भूखे मरने की नौबत आ सकती है।

पनवाडी छोटू का भी मानना था कि सरकारी कामिज़्को को तो मासिक वेतन मिल जाएगा लेकिन हमारे जैसे स्ट्रीट वेंडसज़् की हालत क्या होगी, यह परिदृश्य तो सरकार के जहन में होना चाहिए।
इधर, कफ्यूकज़ असर पूरे इलाके में दिख रहा है। जवाहरनगर इंदिरा वाटिका, अग्रसेननगर चौक, चहल चौक, सुखाडिय़ा सकिज़्ल, एसएसबी रोड, पुरानी आबादी ताराचंद वाटिका, उदाराम चौक, ट्रक यूनियन पुलिया, कोडा चौक, शिव चौक, बसंती चौक, नेहरू पाकज़्, एन ब्लॉक स्थित इंदिरा पाकज़्, इंदिरा चौक, इंदिरा कॉलोनी की मुख्य रोड, बालाजी धाम, पुरानी आबादी कृष्णा मंदिर, रवि चौक, दुगाज़् मंदिर, आदशज़्नगर पाकज़्, मीरा चौक इलाके में नमकीन और आईसक्रीम की रेहडिय़ों पर खूब भीड़ रहती थी लेकिन यहां चहल पहल एकाएक गायब हो गई।

दुगाज़् मंदिर एरिया में तो इन दिनों नवरात्रे होने के कारण महिला श्रद्धालुओं की आवाजाही रहती थी लेकिन कोरोना के कारण लगे कफ्यूज़् से यहां भी वीरानी छा गई।
इधर, लोक परिवहन बसों का संचालन दो दिन बंद कर दिया गया है। वहीं रोडवेज प्रबंधन ने भी यात्रियों की संख्या के अनुरुप बसों का संचालन करने का आदेश जारी कर दिया है। इक्का दुक्का बसें ही गंतव्य स्थल की ओर रवाना हुई।
इस बीच इलाके में सुबह और शाम के समय में लोगों के पाकोज़् में घूमने पर छूट के संबंध में जिला कलक्टर जाकिर हुसैन ने साफ किया कि पाकोज़् में घूमना भी कफ्यूज़् का उल्लंघन है। ऐसे में लोग अपने घर पर ही रहकर व्यायाम कर सकते है।

पाकोज़् पर अब पुलिस नजर रखेंगी। किसी जरुरी काम से शहर से बाहर जाने पर छूट मिल सकती है न कि किसी बारात या अन्य कायज़्क्रम पर। कलक्टर ने बताया कि राज्य से बाहर जाने के लिए रेल या बस से आवाजाही की जा सकतीहै लेकिन गाइड लाइन की पालना के अनुरुप संबंधित यात्रियों केा कोरोना जांच रिपोटज़् जरूरी है।

कलक्टर ने बताया कि कोई भी व्यक्ति कोरोना या कफ्यूज़् के संबंध में हैल्प लाइन नम्बर 0154-2440988 या 0154-2445067 पर संपकज़् कर शिकायत या सुझाव दे सकता है।

surender ojha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned