कर्ज़ से परेशान किसान ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में सीएम-डिप्टी सीएम को ठहराया ज़िम्मेदार!

कर्ज़ से परेशान किसान ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में सीएम-डिप्टी सीएम को ठहराया ज़िम्मेदार!

abdul bari | Publish: Jun, 24 2019 01:41:01 AM (IST) | Updated: Jun, 24 2019 01:44:24 AM (IST) Sri Ganganagar, Sri Ganganagar, Rajasthan, India

किसान ने रविवार को विषाक्त पदार्थ खाकर आत्महत्या ( Farmers suicides In sri ganganagar ) कर ली। उसने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है, जिसमें उसने अपने मरने का कारण बताया है।

रायसिंहनगर (श्रीगंगानगर).
इलाके के गांव ठाकरी में कर्ज से परेशान एक किसान ने रविवार को विषाक्त पदार्थ खाकर आत्महत्या ( Farmer suicide In sri ganganagar ) कर ली। लोगों का कहना है कि उसने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है, जिसमें उसने अपने मरने का कारण बताया है। जबकि पुलिस ने सुसाइड नोट मिलने से इनकार किया है। जानकारी के मुताबिक बताया जा रहा है कि सुसाइड नोट में राज्य ( Farmer suicides in rajasthan ) के सीएम व डिप्टी सीएम के नाम भी लिखे हुए हैं।

जानकारी के अनुसार गांव ठाकरी निवासी सोहनलाल कड़ेला (45) ने रविवार को अपने घर में विषाक्त पदार्थ खा ( eating poisoned ) लिया। उसे गंभीर अवस्था में इलाज के लिए सरकारी अस्पताल में लाया गया। हालत गंभीर होने पर उसे श्रीगंगानगर रैफर कर दिया लेकिन रास्ते में पदमपुर के पास सोहनलाल ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने शव को सरकारी अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया है।

आत्महत्या से पहले फेसबुक पर डाली पोस्ट

इससे पहले सोहनलाल ने फेसबुक पर स्टेटस डाला। जिसमें लिखा कि सारी उम्र कोई जीने की वजह नहीं पूछता लेकिन मौत के बाद सब पूछते हैं कैसे मरे। ग्रामीणों में सोहनलाल का सुसाइड नोट पुलिस को सौंपने की चर्चा भी है, जबकि पुलिस इनकार कर रही है। मृतक किसान नेता रहा है, समस्याओं के निराकरण के लिए वह कुछ समय पहले पानी की टंकी पर भी चढ़ा था। आंदोलनों में भी शामिल रहता था।


इनका कहना है
-हमें ऐसा कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। जिसमें मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री का नाम हो, लोग अफवाह फैला रहे हैं।

-किशन सिंह शेखावत, थाना प्रभारी, रायसिंहनगर।

 

 

पिछले महीने टोंक में किसान ने की थी आत्महत्या

गौरतलब है कि पिछले महीने ही टोंक जिले के बंथली निवारिया निवासी एक किसान ने बैंक और सूदखोरों से लिए लाखों रूपए के कर्ज से परेशान होकर खेत में जाकर फांसी लगाकर जीवन लीला समाप्त कर ली थी। सुबह तक घर नही आने पर परिजनों ने जाकर देखा तो किसान ( farmer suicides in India ) फंदे से झूलता मिला था। मृतक किसान का नाम निवारिया निवासी बालू 45 पुत्र जग्गा मीना है। उसके बैंक और सूदखोरों का करीब 12-13 लाख रुपए का कर्ज था जिससे परेशान था।

 

यह भी पढ़ें..
बाड़मेर हादसे के खास PHOTOS: तूफान से पंडाल गिरा, केवल एक मिनट में बदल गया मंजर, मची अफरा-तफरी

केबिनेट मंत्री विश्वेंद्र सिंह के पुत्र से दुर्व्यवहार, एएसआई हुआ लाइन हाजिर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned