छह फरवरी को किसानों का चक्काजाम...गांव-गांव में तैयारियों में जुटा किसान

-शाहजहांपुर बॉर्डर पर तीन कृषि कानूनों को रद्द करने और कृषि जिन्सों की खरीद के लिए गांरटी कानून बनाने की मांग को लेकर पड़ाव

By: Krishan chauhan

Published: 05 Feb 2021, 10:43 AM IST

छह फरवरी को किसानों का चक्काजाम...गांव-गांव में तैयारियों में जुटा किसान

-शाहजहांपुर बॉर्डर पर तीन कृषि कानूनों को रद्द करने और कृषि जिन्सों की खरीद के लिए गांरटी कानून बनाने की मांग को लेकर पड़ाव
श्रीगंगानगर. सर्दी के मौसम में किसान दिल्ली सहित अन्य बॉर्डर पर तंबू लगाकर पड़ाव डाल रखा है। सरकार ने किसानों के दिल्ली कूच करने से रोकने के लिए तारबंदी व कीलें तक लगा दी है। इसको लेकर भी किसानों में सरकार के प्रति आक्रोश है। किसानों की जगह-जगह महापंचायतें हो रही है। छह फरवरी को दोपहर 12 से तीन बजे तक नेशनल हाइवे व स्टेट हाइवे पर किसानों का चक्काजाम रहेगा। किसान नेता अमर सिंह बिश्नोई ने बताया कि छह फरवरी को चक्काजाम को सफल बनाने के लिए हर ब्लॉक में किसान गांव-गांव में किसानों से जनसंपर्क कर रहे हैं। रायसिंहनगर की महिला ब्लॉक कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष रामदेवी बावरी ने कहा कि छह फरवरी को देश का अन्नदाता मोदी सरकार के खिलाफ एकजुट होकर देश भर में ***** जाम कर रहा है। रायसिंहनगर व अनूपगढ़ क्षेत्र के गांव-गांव में इसको लेकर पूरी तैयारियां की है।

शहर में निकाली रैली

कृषि कानूनों के विरोध में जिला मुख्यालय पर दोपहिया वाहन रैली निकाली गई। रैली एसएसबी रोड से दुपहिया वाहन रैली मुख्य मार्गों से होते-होते हुए महाराजा गंगासिंह चौक से होकर जिला कलक्ट्रेट पहुंचकर संपन्न हुई। रास्ते में युवाओं ने किसानों के समर्थन में नारेबाजी की। इसके बाद एसडीएम के माध्यम से राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिया गया। रैली में किसानों ने कहा कि एमएसपी की गारंटी वाला कानून बनना चाहिए जिसकी लिखित गारंटी दी जाए। नए कानूनों से एग्रीकल्चर प्रोड्यूसर मार्केट कमेटी खत्म हो सकती है। विवाद होने पर एसडीएम की कोर्ट में न्याय नहीं मिलेगा।
शाहजहांपुर पर किसानों को मिल रहा जनसमर्थन

किसान आंदोलन के समर्थन में शाहजहांपुर-खेड़ा बॉर्डर पर 54 दिन से पड़ाव चल रहा है। किसान आंदोलन में यहां पर विभिन्न वर्गों, समूहों और संगठनों का जन समर्थन मिल रहा है। किसान नेता कालू थोरी, रणजीत सिंह राजू व मनिंद्र सिंह मान का कहना है कि बॉर्डर पर राजस्थान व हरियाणा से बड़ी संख्या में किसान पहुंच रहे हैं। क्षेत्र की नैहरा खाप, बावल चौरासी, अलवर और आस पास के अन्य ग्रामीण क्षेत्रों से गांव-गांव से तेल, आटा, चावल, दाल आदि खाद्य-सामग्री पहुंचा गई। राजाराम मील, सुमेर सिंह जेलदार, प्रेम नागपाल, पंजाब से बलजीत सिंह ग्रेवाल, महाराष्ट्र से प्रीति शेखर और बालाजी, मुखराम खिलेरी, शेर सिंह, धर्मवीर, सरपंच जगदीश, सांवर चौधरी व पवन दुग्गल आदि ने संबोधित किया। अनूपगढ़ व रायसिंहनगर क्षेत्र में पूर्व सरपंच मुख्यार सिंह के नेतृत्व में जनंसपर्क किया गया।
छह को जिले भर की मंडियां भी रहेगी बंद

जिला व्यापार संघ के जिलाध्यक्ष विपिन अग्रवाल ने बताया कि छह फरवरी को जिले भर की कृषि उपज मंडी समितियों में कृषि जिन्सों की खरीद-फरोख्त का काम नहीं होगा। व्यापारी व मजदूर वर्ग किसानों के समर्थन में ***** जाम में शामिल होंगे। अग्रवाल ने कहा कि मोदी सरकार को तीनों कृषि कानून वापस लेने चाहिए।

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned