scriptFarmers struggle for urea | यूरिया के लिए किसानों की जद्दोजहद | Patrika News

यूरिया के लिए किसानों की जद्दोजहद

कस्बे सहित आसपास के गांवों में यूरिया के लिए करीब डेढ महीने से मारामारी बनी हुई है। यूरिया किल्लत का सामना कर रहे किसान सुबह छह बजे से ही क्रय-विक्रय सहकारी समिति कार्यालय के समक्ष कतारबद्ध हो रहे हैं। परंतु किसानों को उनकी मांग के अनुरुप यूरिया नहीं मिल पाने से किसानों में आक्रोश की स्थिति बनी हुई है।

श्री गंगानगर

Published: January 14, 2022 03:02:25 am

जैतसर (श्रीगंगानगर). कस्बे सहित आसपास के गांवों में यूरिया के लिए करीब डेढ महीने से मारामारी बनी हुई है। यूरिया किल्लत का सामना कर रहे किसान सुबह छह बजे से ही क्रय-विक्रय सहकारी समिति कार्यालय के समक्ष कतारबद्ध हो रहे हैं। परंतु किसानों को उनकी मांग के अनुरुप यूरिया नहीं मिल पाने से किसानों में आक्रोश की स्थिति बनी हुई है। गुरुवार को कस्बे में वितरण के लिए पहुंची यूरिया की जानकारी मिलते ही हजारों किसान क्रय-विक्रय सहकारी समिति पहुंच गए। जिन्हें व्यवस्थित करने के लिए पुलिस बल तैनात करना पड़ा। हजारों की संख्या में मौजूद किसानों को नियंत्रित करने के लिए पुलिस कर्मियों को भी खासा मशक्कत करनी पड़ी। कृषि विभाग के सहायक कृषि अधिकारी दिनेश बिश्नोई एवं कृषि पर्यवेक्षक गुरमीतसिंह चहल ने बताया कि गुरुवार को कस्बे में करीब पांच हजार बैग यूरिया की आवक हुई। जिसके लिए करीब तीन हजार किसान कतारबद्ध थे। ऐसे में प्रत्येक किसान को दो-दो बैग यूरिया प्रदान करने के लिए टॉकन बांटे गए।
किसान नेता नहीं
दिख रहे कतार में
करीब डेढ़ महीने से चल रही यूरिया किल्लत के बीच किसानों की लगातार कतार देखने को मिल रही है। परंतु एक भी दिन क्षेत्र के किसी भी बड़े किसान नेता एवं किसान संगठन के पदाधिकारियों को कतार में नहीं देखा गया। ऐसे में सवाल उठने लगा है कि क्या किसान नेताओं एवं किसान संगठनों के पदाधिकारियों को यूरिया की आवश्यकता नहीं या फिर उन तक यूरिया के बैग बिना कतार के ही पहुंचाए जा रहे हैं? किसानों के हित की बात करने वाले किसान नेता क्यों यूरिया एवं डीएपी की कमी के मुद्दे पर किसानों की बात को पुरजोर तरीके से नहीं उठा रहे? किसान संगठन जीकेएस महासचिव गुरविन्द्र सिंह, भारतीय किसान संघ के अध्यक्ष नागौर सिंह बुट्टर, किसान कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष इन्द्रजीत सिंह रंधावा आदि से सवाल करने पर बताया कि रबी की फसल के बिजान के समय ही कुछ किसानों ने आवश्यकता के अनुरुप यूरिया का स्टॉक कर लिया था। जिसके बाद बाजार में यूरिया किल्लत प्रारंभ हुई। किसान नेताओं ने छोटे किसानों से भी फसल बिजान के समय ही आवश्यकतानुरुप यूरिया एवं डीएपी का स्टॉक रखने का अनुरोध किया है।
रायसिंहनगर. क्षेत्र में यूरिया की किल्लत झेल रहे किसान घंटो कतार में लगकर इंतजार करने को मजबूर है। पहले बिजाई के समय डीएपी की किल्लत पर और अब सिंचाई के समय यूरिया की किल्लत ने किसानों को परेशानी में डाल दिया है। वहीं दुकानदारों का कहना है की सीमित मात्रा में यूरिया की उपलब्धता के चलते प्रति आधार कार्ड तीन थैले यूरिया उपलब्ध करवाई जा रही है। किसानों ने बताया की सुबह जल्दी कतार में लगने पर मुश्किल से दो तीन थैले यूरिया मिल पाती है। कृषि विभाग यूरिया की किल्लत को लेकर गंभीर नहीं है। मांग के अनुरूप स्टॉक उपलब्ध करवाया जावे ताकि किसानों को समय पर उर्वरक मिल सके।सरकार किसानों की समस्या को लेकर गंभीर नहीं है।
यूरिया के लिए किसानों की जद्दोजहद
यूरिया के लिए किसानों की जद्दोजहद

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Coronavirus: स्वास्थ्य मंत्रालय इन 6 राज्यों में कोविड स्थिति पर चिंतित, यहां तेजी से फैल रहा संक्रमणकेरल में तेजी से बढ़ रहा ओमिक्रॉन, 24 घंटे में 20% बढ़ी ऑक्‍सीजन बेड की मांग50 साल से जल रही ‘अमर जवान ज्योति’ आज से इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगीबीजेपी सांसद ने कहा 'शराब औषधि समान, कम पीने से करती है औषधि का काम'अखिलेश यादव के कई राज सिद्धार्थनाथ सिंह ने खोले, सुन कर चौंक जाएंगेयूपी विधानसभा चुनाव 2022 के दूसरे चरण की 55 विधानसभा सीटों के लिए आज से होगा नामांकनWeather Forecast News Today Live Updates: दिल्ली सहित कई राज्यों में 3 दिन बारिश का अलर्ट, उत्तर भारत में पड़ेगी कड़ाके की ठंडलोकसभा अध्यक्ष बनने के बाद क्या बदला जीवन, जानिए स्पीकर ओम बिरला का रोचक जवाब
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.