पांचवी पास पढ़ेसरियों की परीक्षा,मिलेगा प्रतिष्ठित निजी विद्यालयों में मौका

-विशेष पूर्व मैट्रिक छात्रवृति योजना में विद्यार्थियों को मिलेगा नि:शुल्क प्रवेश

By: Krishan chauhan

Updated: 30 Jun 2020, 10:00 AM IST

पांचवी पास पढ़ेसरियों की परीक्षा,मिलेगा प्रतिष्ठित निजी विद्यालयों में मौका

-विशेष पूर्व मैट्रिक छात्रवृति योजना में विद्यार्थियों को मिलेगा नि:शुल्क प्रवेश
पत्रिका एक्सक्लूसिव--कृष्ण चौहान-श्रीगंगानगर.कोरोना के कहर चलते लॉकडाउन के कारण व्यापार व धंधे ठप्प पड़े हैं। लोग भंयकर आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं। अभिभावकों के सामने स्कूलों की फीस व पढ़ाई का खर्च वहन करना गंभीर समस्या बना हुआ है। ऐसे में राज्य सरकार की विशेष पूर्व मैट्रिक छात्रवृति योजना अनुसूचित जाति और जनजाति के मेधावी विद्यार्थियों के लिए वरदान साबित हो सकती है। इसके लिए माध्यमिक शिक्षा विभाग ने शिक्षा विभागीय योजना के तहत पांचवी उतीर्ण विद्यार्थियों के आवेदन आमंत्रित किए हैं। इसमें चयनित विद्यार्थियों को विभाग की ओर से निर्धारित प्रतिष्ठित निजी विद्यालयों में कक्षा-6 से कक्षा-12 तक नि:शुल्क पढ़ाई का मौका दिया जाएगा।

हर बच्चे पर 3.50 लाख तक का खर्च
इस छात्रवृत्ति योजना में चयन होने पर छात्र-छात्रा को नियमानुसार गुणात्मक शिक्षा,स्वच्छ आवास, बिस्तर,भोजन, पोषाक, पाठ्य पुस्तकें,लेखन सामग्री आदि की सुविधाएं मुफ्त में मिलेगी। इसके लिए निजी विद्यालय को अधिकतम 50000 रुपए वार्षिक अर्थात सात साल में साढ़े तीन लाख रुपए विद्यालय की ओर से व्यय की गई वास्तविक राशि में से जो भी कम हो,का पुनर्भरण विभाग की ओर से किया जाएगा। छठी से बारहवीं तक की पढ़ाई के लिए विद्यार्थियों को किसी भी तरह की राशि का भुगतान विद्यालय को नहीं करना है।

क्या होनी चाहिए चयन के लिए पात्रता
परीक्षा में शामिल होने के लिए विद्यार्थी का राजस्थान का मूल निवासी होना जरूरी है। साथ ही स्वयं का जाति प्रमाण-पत्र प्रस्तुत करना होगा। बच्चे ने पांचवीं कक्षा न्यूनतम सी ग्रेड से उत्तीर्ण होना चाहिए। आवेदक के माता-पिता की दो से अधिक संतान नहीं होनी चाहिए। आवेदन करने वाले विद्यार्थी को माता पिता का आयकर दाता नहीं होना चाहिए। चयन होने बाद भी बारहवीं कक्षा तक सुविधा का लाभ लेने के लिए विद्यार्थी को प्रत्येक कक्षा में कम से कम सी ग्रेड से उत्तीर्ण होना जरूरी है।

सीबीएसई और आरबीएसई दोनों बोर्ड की सुविधा
चयनित विद्यार्थियों को केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड व अजमेर बोर्ड दोंनो से सम्बद्धता वाले विद्यालयों में पढऩे का अवसर मिलेगा। राज्य भर में 59 विद्यालयों में से 54 आरबीएसइ और पांच सीबीएसइ से संबद्ध हैं।इनमें से पांच स्कूल केवल छात्रों, दो स्कूल केवल छात्राओं और 52 स्कूल छात्र-छात्राओं दोंनों के लिए है। श्रीगंगानगर जिले से दयानंद एंग्लो वैदिक उच्च माध्यमिक को तथा हनुमानगढ़ के श्रीगुरुनानक खालसा सीनियर सैकंडरी स्कूल और संगरिया के केआर आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय को योजना में सम्मिलित किया है।

फैक्ट फाइल

राज्य में आवंटित कुल सीटें

वर्ग छात्र छात्रा कुल

-अनुसूचित जाति 172 114 286

-अनुसूचित जनजाति 128 86 214

-कुल रिक्तियां- 300 200 500

-चयनित विद्यालय-59
-आवेदन की अंतिम तिथि- 7 जुलाई

-परीक्षा तिथि- 26 जुलाई

विशेष पूर्व मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना प्रवेश पूर्व परीक्षा का पेपर 5 वीं कक्षा के पाठ्यक्रम के समकक्ष होगा। इसमें हिंदी,विज्ञान,गणित,सामाजिक व अंग्रेजी विषयों में से 20-20 अंको के प्रश्न पूछे जाएंगे।इच्छुक विद्यार्थियों को आज से ही परीक्षा की तैयारी शुरू करनी चाहिए। इसके लिए आवेदन पत्र विभागीय वेबसाइट पर छात्रवृति टैब से या जिला कार्यालय से नि:शुल्क प्राप्त किया जा सकता है।

-भूपेश शर्मा,सहसंयोजक,जिला समान परीक्षा योजना (माध्यमिक)शिक्षा,श्रीगंगानगर

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned