संदिग्ध परिस्थिति में हुई फाइनेंसर गौरव की मौत

सूरतगढ़. राजियासर पुलिस ने इन्दिरा गांधी नहर में जहरीली वस्तु का सेवन कर नहर में गिरे एक व्यक्ति के शव का रविवार को सीएचसी की मोर्चरी में पोस्टमार्टम परिजनों को सौंपा। पुलिस ने इस मामले में आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करने के आरोप में एक जने के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

By: yogesh tiiwari

Published: 13 Sep 2021, 02:11 AM IST

सूरतगढ़. राजियासर पुलिस ने इन्दिरा गांधी नहर में जहरीली वस्तु का सेवन कर नहर में गिरे एक व्यक्ति के शव का रविवार को सीएचसी की मोर्चरी में पोस्टमार्टम परिजनों को सौंपा। पुलिस ने इस मामले में आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करने के आरोप में एक जने के खिलाफ मामला दर्ज किया है।
राजियासर थानाधिकारी पवन कुमार ने बताया कि बुधवार रात सूरतगढ़ निवासी फाइनेंसर गौरव(42) पुत्र गौरीशंकर गौड़ की कार मुख्य नहर इन्दिरा गांधी नहर की लालगढि़या पुलिया के पास लावारिस अवस्था में खड़ी थी। अगले सुबह ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और नहर में गौरव के गिरने की आशंका को लेकर गोताखोरों की मदद से तलाशी अभियान शुरू किया गया। लेकिन उसका कोई सुराग हाथ नहीं लगा। शनिवार शाम करीब चार बजे पूगल क्षेत्र के 803 आरडी के पास नहर में गौरव का शव मिल गया है। रविवार सुबह शव का सूरतगढ़ सीएचसी की मोर्चरी में पोस्टमार्टम करवाकर उसे परिजनों को सौंप दिया। इस मौके पर बड़ी संख्या में मृतक के परिजन व परिचित मौजूद रहे।
राजियासर थानाधिकारी ने बताया कि श्रीगंगागनर के जवाहनगर निवासी राजेन्द्र पुत्र मोहनलाल शर्मा ने रिपोर्ट दी कि उसका ***** वार्ड 25 सूरतगढ़ निवासी गौरव गौड़ पुत्र गौरीशंकर, सूरतगढ़ निवासी नंदकिशोर पुत्र गौरीशंकर सारड़ा मिलकर 2014 से कमेटियां का काम करते थे। गौरव गौड़ ने करीब पचास लाख रुपए से अधिक की रकम पार्टनरशिप में कमेटियों में लगा रखी थी।

yogesh tiiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned