scriptFog and chill affected normal life | कोहरे और ठिठुरन से जनजीवन प्रभावित | Patrika News

कोहरे और ठिठुरन से जनजीवन प्रभावित

श्रीगंगानगर. मावठ का दौर थमे तीन दिन हो गए। लेकिन इससे उपजी ठंड का असर कम नहीं हुआ। मावठ के बाद जनजीवन को प्रभावित करने के लिए मंगलवार को दूसरे दिन भी इलाका कोहरे के आगोश में रहा। धूप के दर्शन शाम को हुए परन्तु इसमें ठंड से ठिठुरते आमजन को राहत देने लायक गर्माहट नहीं थी। घने कोहरे से यातायात भी प्रभावित हुआ है। लंबी दूरी की बसें देरी से यहां पहुंच रही है। सुबह जल्दी जाने वाली बसें भी देरी से अपने गंतव्य तक पहुंची।

श्री गंगानगर

Published: January 11, 2022 09:31:08 pm

श्रीगंगानगर. मावठ का दौर थमे तीन दिन हो गए। लेकिन इससे उपजी ठंड का असर कम नहीं हुआ। मावठ के बाद जनजीवन को प्रभावित करने के लिए मंगलवार को दूसरे दिन भी इलाका कोहरे के आगोश में रहा। धूप के दर्शन शाम को हुए परन्तु इसमें ठंड से ठिठुरते आमजन को राहत देने लायक गर्माहट नहीं थी। घने कोहरे से यातायात भी प्रभावित हुआ है। लंबी दूरी की बसें देरी से यहां पहुंच रही है। सुबह जल्दी जाने वाली बसें भी देरी से अपने गंतव्य तक पहुंची।
कोहरे और ठिठुरन से जनजीवन प्रभावित
कोहरे और ठिठुरन से जनजीवन प्रभावित
कोहरा इतना घना था कि दस कदम दूर कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था। सुबह-सुबह सडक़ों पर वाहन रेंगते हुए नहर आए। दुर्घटना से बचने के लिए चालकों को हेडलाइट जलाकर वाहन चलाने पड़े। कोहरे का असर सुबह दस बजे तक बना रहा। उसके बाद यह थोड़ा कम हुआ तभी सडक़ों पर वाहनों की आवाजाही बढ़ी। कोहरे के कारण दिल्ली और जयपुर सहित अन्य शहरों से यहां आने वाली लंबी दूरी की बसें देरी से पहुंची। सुबह यहां से जाने वाली बसें भी अपने गंतव्य तक देरी से पहुंची।
मावठ के बाद सर्दी का असर बढ़ा है। मंगलवार को दिनभर लोग ठंड से ठिठुरते रहे। ठंड से बचने के लिए लोगों ने अलाव का सहारा लिया या फिर देर तक रजाइयों में दुबके रहे। चिकित्सकों का कहना है कि विशेषकर बच्चों और बुजुर्गों को इस मौसम में घर में रहना चाहिए क्योंकि उन्हें सर्दी की चपेट में आने का खतरा ज्यादा रहता है। कोरोना की तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है, सो बच्चों के मामले में विशेष सतर्कता बरतने की जरूरत है।
-------------------
असर अभी कई दिन रहेगा---------------

सर्दी का असर अभी मकर संक्रांति तक रहेगा। इससे पहले राहत के आसार नहीं है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार मकर संक्रांति से पहले बरसात के भी आसार हैं। उसके बाद मौसम साफ होने की उम्मीद है। मावठ के कारण फसलों को पर्याप्त पानी मिल चुका है इसलिए पाला मारने जैसी आशंका नहीं है। कोहरे से भी फसलों को फायदा ही होगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Health Tips: रोजाना बादाम खाने के कई फायदे , जानिए इसे खाने का सही तरीकाCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतSchool Holidays in January 2022: साल के पहले महीने में इतने दिन बंद रहेंगे स्कूल, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालVideo: राजस्थान में 28 जनवरी तक शीतलहर का पहरा, तीखे होंगे सर्दी के तेवर, गिरेगा तापमानJhalawar News : ऐसा क्या हुआ कि गुस्से में प्रधानाचार्य ने चबाया व्याख्याता का पंजामां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतAaj Ka Rashifal - 24 January 2022: कुंभ राशि वालों की व्यापारिक उन्नति होगीMaruti की इस सस्ती 7-सीटर कार के दीवाने हुएं लोग, कंपनी ने बेच दी 1 लाख से ज्यादा यूनिट्स, कीमत 4.53 लाख रुपये

बड़ी खबरें

शरीयत पर हाईकोर्ट का अहम आदेश, काजी के फैसलों पर कही ये बातCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटों में आए कोरोना के 5,760 नए मामले, संक्रमण दर 11.79%Republic Day 2022 parade guidelines: कोरोना की दोनों वैक्सीन ले चुके लोग ही इस बार परेड देखने जा सकेंगे, जानिए पूरी गाइडलाइन्सएमपी में तैयार हो रही सैंकड़ों फूड प्रोसेसिंग यूनिट, हजारों लोगों को मिलेगा कामDelhi Metro: गणतंत्र दिवस पर इन रूटों पर नहीं कर सकेंगे सफर, DMRC ने जारी की एडवाइजरीकोविड के शिकार हो चुके बच्चो को मधुमेह होने का खतरा क्यों है?वाटर टूरिज्म से बढ़ेंगे पर्यटक, रमौआ और तिघरा डैम में वाटर स्पोट्र्स एक्टिविटी की तैयारीदलित का घोड़े पर बैठना नहीं आया रास, दूल्हे के घर पर तोड़फोड़, महिलाओं को पीटा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.