प्रधानमंत्री उज्जवला योजना में नि:शुल्क गैस सिलेंडर, 50 प्रतिशत लोगों ने उठाया लाभ

-गंगानगर-हनुमानगढ़ में लाभार्थियों ने लिया फायदा, केंद्र सरकार ने लॉकडाउन में अप्रेल, मई व जून में सिलेंडर नि:शुल्क देने की कर रखी है घोषणा

By: Krishan chauhan

Published: 05 Jun 2020, 09:56 AM IST

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना में नि:शुल्क गैस सिलेंडर, 50 प्रतिशत लोगों ने उठाया लाभ

-गंगानगर-हनुमानगढ़ में लाभार्थियों ने लिया फायदा, केंद्र सरकार ने लॉकडाउन में अप्रेल, मई व जून में सिलेंडर नि:शुल्क देने की कर रखी है घोषणा
इंडेप्थ स्टोरी--कृष्ण चौहान--श्रीगंगानगर. कोविड-19 की महामारी में लॉकडाउन की वजह से केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री उज्जवला योजना में अप्रेल व मई माह में श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ सहित राज्य भर में नि:शुल्क सिलेंडर लेने के लिए प्रति लाभार्थियों का रूझान देखने का मिल रहा है। इस योजना में श्रीगंगानगर जिले में एक लाख 69 हजार 885 लाभार्थियों को कनेक्शन दिए हुए हैं। इनमें मई में 80 हजार 748 लाभार्थियों ने नि:शुल्क सिलेंडर लिए हैं। जबकि हनुमानगढ़ जिले में एक लाख 24 हजार 460 लाभार्थियों को कनेक्शन दिए हुए हैं। इनमें से मई में 61 हजार 986 उपभोक्ताओं ने नि:शुल्क सिलेंडर का लाभ उठाया है। जबकि राज्य में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना में 63 लाख 35 हजार उपभोक्ताओं को घरेलू गैस सिलेंडर का कनेक्शन दिया हुआ है। जबकि इनमें मई में 25 लाख 8 हजार लाभार्थियों ने नि:शुल्क सिलेंडर की रिफलिंग प्राप्त की है। दोनों जिले में मई महीने में करीब पचास प्रतिशत लोगों ने इस योजना का लाभ उठाया है।

नि:शुल्क के बाद भी बेरूखी
डाटा को देखने के बाद तो यही लगता है कि लॉकडाउन व काम धंधा बंद होने के बावजूद लोगों ने नि:शुल्क गैस सिलेंडर लेने के प्रति ज्यादा रूझान नहीं दिया है। इस योजना में राज्य की बात की जाए तो मई माह में महज 40 फीसदी और अप्रेल में 57 फीसदी लाभार्थियों ने नि:शुल्क गैस सिलेंडर की रिफलिंग का लाभ उठाया है। जबकि अब जून माह शुरू हुआ है। इसमें नि:शुल्क गैस सिलेंडर लेने के प्रति लाभार्थियों का क्या रूझान रहता है।

नि:शुल्क गैस सिलेंडर कम लेने के यह कारण भी रहे

-श्रमिक व गरीब तबके के लोग अपने जिलों या राज्यों में पलायन कर गए।
-जिन इलाकों में कफ्र्यू लगा हुआ था। वहां महिलाएं राशि निकालने के लिए बैंक नहीं जा पाई।

-लॉकडाउन में काम नहीं होने के कारण लोगों के पास पैसे की कमी रही, ऐसे में गैस सिलेंडर लेने की बजाए लोगों ने इस राशि का उपयोग राशन खरीद में कर लिया।
-उज्जवला योजना के लाभार्थी हर महीने सिलेंडर नहीं लेते हैं। सात में चार सिलेंडर ही मुश्किल से लेते हैं। साथ ही फरवरी-मार्च में सिलेंडर लिया था और अप्रेल व मई में सिलेंडर खाली नहीं होगा।

फैक्ट फाइल
श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ जिले की स्थिति

-श्रीगंगानगर जिले में उपभोक्ता-1,69,885
-अप्रेल माह में सिलेंडर लिए-107228

-मई माह में सिलेंडर लिए-80748
-हनुमानगढ़ जिले में उपभोक्ता-124460

-अप्रेल में सिलेंडर लिए-79129
-मई में सिलेंडर लिए-61986

राज्य की स्थिति
राज्य में उपभोक्ता-63.35 लाख

अप्रेल में सिलेंडर लिए-25.08 लाख

कोरोना संक्रमण की वजह से देश भर में लॉकडाउन रहा है। इसको देखते हुए प्रधानमंत्री उज्जवला योजना में तीन माह के लिए उपभोक्ताओं को नि:शुल्क गैस सिलेंडर की रिफलिंग की जा रही है। इसमें दो माह में करीब पचास प्रतिशत लोगों ने इसका लाभ उठाया है। कई उपभोक्ताओं के सिलेंडर खाली नहीं होने या लेबर पलायन करने सहित अन्य समस्याएं आई है।
आनंद अवस्थी, कॉडिनेटर, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़।

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned