जिंदगी भर पदोन्नति का इंतजार

Waiting for Promotion : राजकीय सेवा जीवन यापन का बेहतरीन विकल्प माना जाता है, लेकिन राज्य सरकार की सेवा में एक ऐसा वर्ग भी है जिसे नियुक्ति से सेवानिवृत्ति तक एक बार भी पदोन्नति नहीं मिल पाई है।

By: jainarayan purohit

Published: 01 Mar 2020, 12:03 PM IST

-फार्मासिस्ट के पद पर पदोन्नति का प्रावधान ही नहीं
-पांच स्तरीय पदोन्नति व्यवस्था पर नहीं हुआ विचार

श्रीगंगानगर. राजकीय सेवा जीवन यापन का बेहतरीन विकल्प माना जाता है, लेकिन राज्य सरकार की सेवा में एक ऐसा वर्ग भी है जिसे नियुक्ति से सेवानिवृत्ति तक एक बार भी पदोन्नति नहीं मिल पाई है। जी हां, ये वर्ग है फार्मासिस्ट। राजकीय सेवा में वर्ष 1984 में फार्मासिस्टों के कुछ पदों पर नियुक्तियां हुई तथा उस समय नियुक्त फार्मासिस्टों में से अधिकांश बिना कोई पदोन्नति लिए केवल चयनित वेतनमान के लाभ के साथ ही सेवानिवृत्त भी हो गए।

राज्य सरकार ने इन पदों के रिक्त होने तथा बाद में मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा वितरण योजना लागू होने पर इस क्षेत्र में फार्मासिस्टों की मांग को देखते हुए वर्ष 2013 में बड़े पैमाने पर राजकीय सेवा में फार्मासिस्ट भर्ती किए लेकिन इन फार्मासिस्टों को भी पदोन्नति का लाभ नहीं मिला है।

--------------

सिफारिशें नहीं हुई लागू
फार्मासिस्ट के पद पर काम करने के दौरान राजस्थान फार्मासिस्ट कर्मचारी संघ (एकीकृत) ने समस्या को देखते हुए इस संबंध में प्रयास किए। कैडर निर्धारित करने के लिए राज्य सरकार से ज्ञापनों के माध्यम से संपर्क किया लेकिन कोई लाभ नहीं हो पाया। कुछ वर्ष पहले राज्य सरकार के स्तर पर फार्मासिस्टों की पदोन्नति के लिए कैडर निर्धारण के लिए डॉ.बीएल सैनी की अध्यक्षता में एक कमेटी भी गठित हुई। कमेटी ने फार्मासिस्टों की पांच स्तरीय पदोन्नति की सिफारिश भी की लेकिन राज्य सरकार ने इसे अब तक लागू नहीं किया है।

----------------

कई राज्यों में बना है कैडर

राजस्थान फार्मासिस्ट कर्मचारी संघ (एकीकृत) के सचिव गुलशन छाबड़ा बताते हैं कि उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, बिहार, दिल्ली पंजाब आदि राज्यों में फार्मासिस्टों का पदोन्नति कैडर बना हुआ है। उनका कहना है कि प्रदेश सरकार तक कई बार ज्ञापन भिजवाने के बावजूद अब तक उनकी पदोन्नति के लिए कोई प्रावधान नहीं किया गया है।

-------------------

सेवानिवृत्ति के नजदीक लेकिन नहीं मिला कैडर
वर्ष 1984 में राज्य सरकार ने फार्मासिस्टों के पद पर नियुक्त हुए अधिकांश फार्मासिस्ट अब या तो सेवानिवृत्त हो चुके हैं या सेवानिवृत्ति के नजदीक है लेकिन उन्हें कैडर नहीं मिला है।

jainarayan purohit
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned