scriptHappiness in the void but crowded pictures scare, Corona may increase | शून्य में खुशी लेकिन भीड़भाड़ वाली तस्वीरे डरा रही, कहीं फिर बढ़ जाए कोरोना | Patrika News

शून्य में खुशी लेकिन भीड़भाड़ वाली तस्वीरे डरा रही, कहीं फिर बढ़ जाए कोरोना

कोरोना संक्रमित शून्य होने के बाद फिर आने लगे पॉजिटिव, 4 एक्टिव केस

श्री गंगानगर

Published: August 22, 2021 12:14:24 am

श्रीगंगानगर. जिले में एक अगस्त के बाद कोरोना पॉजिटिव केसों की संख्या शून्य हो गई थी लेकिन इसके बाद जिले में फिर चार-पांच केस पॉजिटिव आ गए थे। वहीं शनिवार को भी एक पॉजिटिव आया है और अब चार एक्टिव केस हो गए हैं। लेकिन बाजारों आदि में लोगों की भीड़ लगने लगी है। लोगों ने सोशल डिस्टेसिंग व मास्क लगाना भी बंद कर दिया है। चिकित्सकों की माने तो यही हाल रहा तो तीसरी लहर जल्द ही आशंका बन जाएगी।
शून्य में खुशी लेकिन भीड़भाड़ वाली तस्वीरे डरा रही, कहीं फिर बढ़ जाए कोरोना
शून्य में खुशी लेकिन भीड़भाड़ वाली तस्वीरे डरा रही, कहीं फिर बढ़ जाए कोरोना
जयपुर से जारी कोविड बुलेटिन में एक अगस्त के बाद एक कोरोना पॉजिटिव नहीं आ रहे हैं। जिले में एक भी कोरोना का एक्टिव केस नहीं बचा था। जिससे चिकित्सा विभाग कर्मचारियों को काफी राहत मिली थी।
सीएमएचओ डॉ. गिरधारीलाल मेहरडा ने बताया कि जिले में पिछले कई दिन से जांच के दौरान एक भी कोरोना पॉजिटिव नहीं आ रहा था। पहले के जो मरीज एक्टिव चल रहे थे, अब वे भी जीरो हो गए हैं। 10 अगस्त की रिपोर्ट में जिले में कोरोना जीरो होने से चिकित्सा विभाग ने राहत की सांस ली है। वहीं अभी जांच जारी है।
पीएमओ डॉ. बलदेव सिंह ने बताया कि मंगलवार को सुबह से ही अस्पताल के कोविड जोन में एक भी मरीज नहीं है। जो मरीज थे, वे ठीक होकर डिस्चार्ज हो गए हैं। इसके चलते कोविड वार्ड में चिकित्साकर्मियों को काफी राहत मिली है। अब कोविड जोन को साफ-सफाई कर व्यवस्थित किया जा रहा है। सभी वार्डों को सैनेटाइज्ड करके बंद किया गया है। लेकिन इसके बाद चार-पांच दिन पहले ही जिले में कोरोना के चार-पांच पॉजिटिव आ गए और जिसके चलते चिकित्सा विभाग को फिर चिंता में डाल दिया। वहीं शनिवार को भी जिले में एक पॉजिटिव केस आया है और अब कुल चार एक्टिव केस हो गए हैं। जबकि बाजारों, कार्यक्रमों में लोगों की भीड़ जुट रही है। लोगों ने सोशल डिस्टेसिंग की पालना भी बंद कर दी है और मास्क भी गिने-चुने लोग ही लगा रहे हैं। चिकित्सकों का कहना है कि इसके चलते कोरोना की तीसरी लहर की आशंका बलवती हो रही है।
ऐसे आई दूसरी लहर

- 23 फरवरी को जिले में 0 पॉजिटिव केस आए थे और पहली लहर में जब तक 86537 सैंपल लिए जा चुके थे। वहीं जिले में कुल 6787 पॉजिटिव थे और 42 व्यक्तियों की मौत हो चुकी थी। इसके बाद दूसरी लहर शुरू हुई और कारोना पॉजिटिव आते रहे और 23 अपे्रल तक एक माह में ही जिले में 1666 कोरोना पॉजिटिव बढकऱ 8453 हो गए थे। वहीं सैंपल की संख्या भी 117979 तक पहुंच गई। 13 मई को जिले में सैंपल की संख्या बढकऱ 141649 तक पहुंच गई और पॉजिटिव की संख्या 14992 हो गई। इन 20 दिन में 6539 कोरोना पॉजिटिव बढ़ गए थे। इसके बाद 23 मई तक सैंपलों की संख्या 151936 तक पहुंच गई और कोरोना पॉजिटिव की संख्या 17584 हो गई। इन 10 दिन में 2592 पॉजिटिव बढ़े। 13 जून तक जिले में सैंपल की संख्या 20 लाख 1091 हो गई थी। वहीं पॉजिटिव की संख्या 19151 पहुंच गई। जिसमें दस दिन में पॉजिटिव की संख्या कम होने लगी और 1567 ही पॉजिटिव आए। 23 जून तक सैंपलों की संख्या 223474 हो गई और पॉजिटिव 19239 हो गए। इन दस में मात्र 88 पॉजिटिव केस आए। 3 जुलाई तक 236048 सैंपल हो चुके थे। वहीं पॉजिटिव की संख्या 19290 हो गए। दस में यहां भी मात्र 51 केस बढ़े। 13 जुलाई को सैंपल की संख्या 2 लाख 48 हजार 349 हो गई थी। वहीं पॉजिटिव केसों संख्या 19307 हो गई। दस में मात्र 17 पॉजिटिव बढ़े। यहां आकर कोरोना खात्मे की ओर से शुरू हो गया था। 13 अगस्त तक 278500 सैंपल हो चुके थे। जबकि पॉजिटिव की संख्या 19338 हो गई और जिले में इस दौरान 31 पॉजिटिव बढ़े थे। 21 अगस्त तक 2 लाख 84 हजार 715 सैंपल लिए जा चुके हैं। वहीं पॉजिटिव की संख्या 19340 हो गई है। इस दौरान मात्र 2 पॉजिटिव आए हैं। कोरोना की पहली लहर में 42 व्यक्तियों की मौत हुई थी और दूसरी लहर में 108 मरीजों की मौत हुई। दोनों में लहर में150 मरीज की मौत हो गई।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.