बिना खाद्य सुरक्षा अधिकारियों के कैसे चले सालभर खाद्य पदार्थों की जांच का अभियान

- चार साल से एक खाद्य सुरक्षा अधिकारी व दो खाद्य निरीक्षकों के पद खाली

By: Raj Singh

Published: 28 Oct 2020, 11:27 PM IST

श्रीगंगानगर. जिले में चार साल से एक खाद्य सुरक्षा अधिकारी व दो खाद्य निरीक्षकों के पद खाली चल रहे हैं। ऐसे में सालभर खाद्य पदार्थों की जांच का अभियान उधार के अधिकारियों के भरोसे कब चलता रहेगा। इसलिए यहां लगातार कार्रवाई व अभियान जारी नहीं रहते हैं। इसके चलते खाद्य पदार्थों में मिलावट का अंदेशा बढ़ जाता है।


चिकित्सा विभाग से मिली जानकारी के अनुसार जिले में एक पद खाद्य सुरक्षा अधिकारी व दो पद खाद्य निरीक्षकों को स्वीकृत है लेकिन चार से यह तीनों ही पद खाली चल रहे हैं। हालात ये हैं कि यहां कार्रवाई के लिए हनुमानगढ़ के खाद्य सुरक्षा अधिकारी के पास श्रीगंगानगर जिले का भी कार्यभार है। ऐसे में वे पहले वहां कार्रवाई करें कि श्रीगंगानगर आकर कार्रवाई करें। जिले में त्योहार व अन्य दिनों खाद्य पदार्थों की जांच का मामला आता है तो जिला कलक्टर के आदेशों पर वे कुछ यहां आकर कार्रवाई करते रहे।

इसके चलते ना तो यहां कोई जांच का बड़ा अभियान चल पाया और ना ही खास कार्रवाई ही अमल में लाई गई। यहां सैंपल लेने की कार्रवाई होती रही। यहां पहले एक खाद्य सुरक्षा अधिकारी लगाए थे, जो चार साल में यहां तक पहुंच ही नहीं पाए।
अब उधार के अधिकारी भी हो जाएंगे रिटायर्ड
- हनुमानगढ़ जिले के खाद्य सुरक्षा अधिकारी हरिराम वर्मा के पास ही श्रीगंगानगर के खाद्य सुरक्षा अधिकारी का चार्ज है। लेकिन अब जल्द ही हनुमानगढ़ में खाद्य सुरक्षा अधिकारी का पद खाली हो जाएगा। चिकित्सा विभाग कर्मचारियों का कहना है कि 31 अक्टूबर को हनुमानगढ़ खाद्य सुरक्षा अधिकारी सेवानिवृत हो जाएंगे। ऐसे में जांच कैसे हो पाएगी।


अब 14 नवंबर तक के लिए आए हैं नए अधिकारी
- राज्य सरकार के निर्देश पर जिला कलक्टर महावीर प्रसाद वर्मा के निर्देश जिले में दीपावली के त्योहार को देखते हुए खाद्य पदार्थों की जांच व सैंपलिंग के लिए शुद्ध के लिए युद्ध अभियान चलाया गया है। इस अभियान के लिए पहले सीकर से खाद्य सुरक्षा अधिकारी मदनलाल को यहां लगाया गया था। जो कार्रवाई शुरू करवाकर चले गए। इसके बाद अब जैसलमेर से खाद्य सुरक्षा अधिकारी लक्ष्मीकांत गुप्ता को यहां लगाया गया है। बताया जा रहा है कि ये 14 नवंबर तक अभियान चलने तक रहेंगे।


अभियान में जुटे हैं कई अधिकारी
- जिले में जिला कलक्टर की देखरेख में चलाए जा रहे खाद्य पदार्थों की जांच के लिए शुद्ध के लिए युद्ध अभियान में एडीएम स्तर के अधिकारी के सुपरविजन में एसडीएम, तहसीलदार, जिला रसद अधिकारी, चिकित्सा विभाग की टीमें सहित कई अधिकारी इस अभियान में जुटे हुए हैं।


इनका कहना है
- जिले में खाद्य निरीक्षक के दो व खाद्य सुरक्षा अधिकारी का एक पद करीब चार साल से रिक्त है। खाद्य सुरक्षा अधिकारी का कार्यभार हनुमानगढ़ के खाद्य सुरक्षा अधिकारी के पास है। जो 31 अक्टूबर को रिटायर्ड होंगे। अब अभियान के लिए जिला कलक्टर ने जालौर से खाद्य सुरक्षा अधिकारी बुलाए हैं। जल्द ही पद भरने की उम्मीद है।
डॉ. गिरधारीलाल मेहरड़ा, सीएमएचओ श्रीगंगानगर

Raj Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned