हिन्दुस्तान के किसानों के सामने अंग्रेज नहीं टिक पाए तो मोदी कौन

If the British could not stand in front of the farmers of India, then who is Modi?- पदमपुर में किसान महापंचायत में बोले राहुल गांधी.

By: surender ojha

Published: 13 Feb 2021, 12:55 AM IST

श्रीगंगानगर. कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का कहना है कि हिन्दुस्तान में सबसे बड़ा बिजनेस कृषि का धंधा है। इसमें देश के चालीस प्रतिशत लोग जुड़े हुए है। लेकिन केन्द्र सरकार एक व्यक्ति के हाथ में यह धंधा देने के लिए तीन कृषि कानून बना दिए है।

पदमपुर की नई धानमंडी में आयोजित किसान महापंचायत में मुख्य अतिथि के तौर पर राहुल गांधी ने कहा कि किसानों ने अंधेरे में टॉर्च जलाई है, एेसे में यह आंदोलन अब पूरे देश का आंदोलन बनने वाला है। हिन्दुस्तान के किसानों और मजदूरों के सामने अंग्रेज नही टिक पाएं तो मोदी कौन है।

उन्हेांने तीनों कानूनों में उल्लेख करते हुए कहा कि पहला कानून की मंशा मंडी समाप्त करना, दूसरा कानून जमाखोरी शुरू करना, तीसरा कानून किसान का हक खत्म करना है। उन्होंने कहा कि कांगे्रस ने आजादी से लेकर अब तक हरित क्रांति के माध्यम से यह प्रयास किया कि कृषि का धंधा देश के चालीस प्रतिशत लोगों के हाथ में रहे लेकिन केन्द्र की मोदी सरकार इस धंधे को एक या दो अरबपतियों के हाथ में देना चाहती है।

इससे किसान, छोटे दुकानदार, रेहड़ी वाले, व्यापारी, आढतिये, मंडी कें लॉडर मजदूर आदि बेरोजगार हो जाएंगे। अनाज, सब्जी और फल एक ब्रांडेड कंपनी के स्टोरेज पर महंगी दर पर मिलेगी। किसान को उसकी मेहतन का दाम भी नहीं मिलेगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर कड़े प्रहार करते हुए कहा कि पहले नोटबंदी के नाम पर लोगों को मारा, फिर जीएसटी के नाम पर छोटे दुकानदारों का धंधा चौपट किया और रही कही कसर अब कृषि ढांचे को खत्म करने की तैयारी है।

इस सभा में राहुल गांधी ने 26 मिनट के अपने संबोधन में कोरोना का जिक्र करते हुए राजस्थान में कोरोना काल के दौरान किए गए कार्यो पर राजस्थान सरकार और चीफ मिनिस्टर की तारीफ की।

किसानों के आंदोलन पर उन्होंने कहा कि किसानों ने अंधेरे में टॉर्च जलाई है, यह आंदोलन अब पूरे देश का आंदोलन बनने वाला है। प्रधानमंत्री को यह कानून आज नहीं तो कल वापस लेना ही पड़ेगा। अभी समय है कि कानून को वापस ले लो।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि इलाके में सरकारी मेडिकल कॉलेज के निर्माण की प्रक्रिया, कृषि महाविद्यालय की शुरुआत, सिंचाई पानी के मुददो को रखा। उन्होंने कहा कि नहरबंदी किसानों से पूछकर ही ली जाएगी, जबरदस्ती नहीं थोंपी जाएगी।

इससे पहले मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों के आंदोलन में बाधा डालने के लिए केन्द्र की मोदी सरकार ने किस तरीके से दुष्प्रचार किया कि किसान खालिस्तानी या आंतकवादी संगठनों से जुड़े हुए है, यह शर्म की बात है।

उन्होंने कहा कि कोरोना काल में किसी को भूखे नहीं सोने का संकल्प लिया था, वह पूरा किया। कोरोना संक्रमण रोकने के लिए कई कदम भी उठाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कई मुल्कों में कोरोना रिटर्न हो रहा है, एेसे में उन्होंने सोशल डिस्टेंस की पालना करने की बात कही।

इस सभा में श्रीकरणपुर के विधायक गुरमीत सिंह कुन्नर ने राहुल गांधी और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि इलाके में पेट्रोल और डीजल के दाम पूरे देश में सबसे ज्यादा है। एेसे में मुख्यमंत्री जयपुर जितने दाम कर दे, इसके लिए उन्होंने हनुमानगढ़ में ऑयल डिपो को फिर से खोलने की मांग की।

कुन्नर का कहना था कि हनुमानगढ में डिपो खुलने से करीब तीन चार रुपए का अंतर आ जाएगा। इसके अलावा वैट में भी कमी करें तो इलाकेवासियों को राहत मिल सकती है। कुन्नर ने कहा कि पंजाब और हरियाणा से ज्यादा हमारे इलाके में मंडी टैक्स है। इस टैक्स के कारण पंजाब और हरियाणा से दोनों जिलों में व्यापारी नहीं आते है। इस कारण राज्य सरकार को भी राजस्व नुकसान होता है और व्यापारी व आम आदमी भी प्रभावित है।

पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने इस सभा में अपना अभिवादन रामराम सा से बोला तो पूरा पंडाल तालियों से गूंज उठा। उन्होंने कोरोनाकाल में राजस्थान सरकार की ओर से किए गए प्रयासों की तारीफ की।

गांधी परिवार का जिक्र करते हुए कहा कि जब प्रदेश में आकाल आया तो राजीव गांधी, जयपुर विस्फोट हुए तब सोनिया गांधी और अब राजस्थान में जब जब संकट आया तो राहुल गांधी ने आकर संभाला है।

Prime Minister Narendra Modi
surender ojha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned