scriptIf the electricity bill is not paid, then the connection is disconnect | बिजली बिल भरा नहीं तो काट दिया कनैक्शन, एक सप्ताह से पीएचसी पर अंधेरा | Patrika News

बिजली बिल भरा नहीं तो काट दिया कनैक्शन, एक सप्ताह से पीएचसी पर अंधेरा

If the electricity bill is not paid, then the connection is disconnected, darkness on PHC for a week- श्रीगंगानगर में तीन माह से ऑनलाइन रिपोर्ट जमा नहीं होने से आशा सहयोगिनों को नहीं मिला मानदेय

श्री गंगानगर

Published: December 02, 2021 08:10:21 pm

श्रीगंगानगर जिला मुख्यालय पर अशोकनगर बी में स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र अफसरों की अनदेखी का शिकार हो गया है। हालात यहां तक बिगड़े हुए है कि इस पीएचसी का बिजली का कनैक्शन पिछले एक सप्ताह से विच्छेद किया हुआ है। विद्युत निगम ने बिजली बिल जमा नहीं होने पर इस पीएचसी का कनैक्शन काट दिया। एक सप्ताह से अंधेरे में ही काम करने को मजबूर किया जा रहा है।
बिजली बिल भरा नहीं तो काट दिया कनैक्शन, एक सप्ताह से पीएचसी पर अंधेरा
बिजली बिल भरा नहीं तो काट दिया कनैक्शन, एक सप्ताह से पीएचसी पर अंधेरा
इस पीएचसी के कार्यवाहक प्रभारी विक्रम शीला ने बताया कि सीएमएचओ ऑफिस ने इस पीएचसी का बिजली का बिल तय समय में जमा नहीं कराया। इस कारण निगम के अधिकारियों और कार्मिकों की टीम ने आकर बिजली का कनेक्शन काट दिया। इस कारण यहां कार्यरत कार्मिक अपने मोबाइल की रोशनी से रोगियों को दवा वितरित करने को मजबूर है। वहीं आशा सहयोगिनों की सर्वे और स्वास्थ्य परीक्षण की अलग अलग रिपोर्ट ऑनलाइन अपलोड नहीं हो पाई।
इस कारण तीस आंगनबाड़ी केन्द्रों की आशा सहयोगिनों का मानदेय अटका हुआ है। आशा सहसयोगिन हेमलता शर्मा, सरोज, मीनूरानी, सुमन, आशा देवी, अरुणा शर्मा, ऊषा, रीना, सुखजीत, सुनीता, अलका, प्रवीण, निमा्रला, लक्ष्मी आदि ने बताया कि वे तीन बार जिला कलक्टर से लेकर पीएचसी तक प्रदर्शन कर चुके है लेकिन अभी तक यहां कम्प्यूटर ऑपरेटर की व्यवस्था तक नहीं हुई है।
यहां तक कि बिजली की आपूर्ति भी पिछले एक सप्ताह से ठप है। कार्यवाहक लगाया वह भी नहीं आया इधर, सीएमएचओ डा. गिरधारीलाल मेहरड़ा ने इस पीएचसी पर कार्यवाहक चिकित्सक और कार्यवाहक कम्प्यूटर ऑपरेटर को लगाया है। लेकिन वे भी नहीं आए है। इस कारण पीएचसी के स्टॉफ ने वहां आने वाले रोगियों को राजकीय जिला चिकित्सालय में उपचार कराने की सलाह देनी पड़ रही है।
पार्षद लोकेश स्याग ने बताया कि यह पीएचसी पहले पीपी मोड़ पर थी लेकिन समय अवधि के बाद वहां से स्टाफ चला गया।

ताले तक लगे तो मजबूरन प्रदर्शन कर वापस खुलवाई है। लेकिन चिकित्सक, एएनएम और कम्प्यूटर स्टॉफ की कमी के कारण काफी परेशानी उठानी पड़ रही है।
इधर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा.गिरधारीलाल ने बताया कि पिछले कुछ समय से इस पीएचसी की समस्याओं को लेकर जनप्रतिनिधि और आशा सहयोगिनों ने अवगत करवाया है। लेकिन कार्यवाहक स्टाफ लगाकर व्यवस्था दुरुस्त कराने का प्रयास किया जा रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

School Holidays in February 2022: जनवरी में खुले नहीं और फरवरी में इतने दिन की है छुट्टी, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालइन 4 तारीखों में जन्मी लड़कियां पति की चमका देती हैं किस्मत, होती है बेहद लकी“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतजैक कैलिस ने चुनी इतिहास की सर्वश्रेष्ठ ऑलटाइम XI, 3 भारतीय खिलाड़ियों को दी जगहकम उम्र में ही दौलत शोहरत हासिल कर लेते हैं इन 4 राशियों के लोग, होते हैं मेहनतीइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

राहुल गांधी ने फॉलोवर्स सीमित होने पर Twitter पर लगाया सरकार के दबाव में काम करने का आरोप, जानिए क्या मिला जवाबकेरल और कर्नाटक में 50 हजार तक सामने आ रहे नए केस, जानिए अन्य राज्यों का हालटाटा ग्रुप का हो जाएगा अब एयर इंडिया, कर्मचारियों को क्या होगा फायदा और नुकसान?झारखंड में नक्सलियों ने ब्लास्ट कर उड़ाया रेलवे ट्रैक, राजधानी एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों का रूट बदलाBudget 2022: इस साल भी पेश होगा डिजिटल बजट, जानें कैसे होगी छपाई5 करोड़ का मुआवजा पाने वाले किसान की गोली मारकर हत्या, पत्नी ने बेटे पर लगाया आरोपनीमच में जैन मुनि श्री की समाधि के लिए मुस्लिम व्यक्ति ने दी निशु:ल्क भूमि, हिन्दू-मुस्लिम भाई चारे का दिया परिचयRRB-NTPC Exam: पटना के खान सर समेत कई संस्थानों के खिलाफ एफआईआर, छात्रों को उकसाने का आरोप
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.