व्यापारी पर हमले के विरोध में व्यापारियों ने निकाला रोष मार्च, एसपी को दिया ज्ञापन

- पंचायती धर्मशाला में हुई बैठक में वक्ताओं ने जताया आक्रोश

By: Raj Singh

Published: 03 Mar 2021, 11:45 PM IST

श्रीगंगानगर. व्यापारी विजय जिंदल पर कार्यालय में घुसकर लाठी व सरियों से हुए हमले के मामले को लेकर बुधवार सुबह व्यापारियों ने पंचायती धर्मशाला में बैठक की और इसके बाद रोष मार्च निकाला। जहां पुलिस अधीक्षक को आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी को लेकर ज्ञापन सौंपा। इस दौरान घायल व्यापारी के परिजन भी मौजूद रहे।


एक मार्च को व्यापारी विजय जिंदल पर आपसी विवाद को लेकर कुछ लोगों ने उसके कार्यालय में घुसकर अन्य व्यक्तियों की मौजूदगी में डंडों व सरियों से मारपीट कर दी थी। जिससे व्यापारी जिंदल के हाथों व पैरों में गंभीर चोटें आई है। इस मामले को लेकर पर्चा बयान के आधार पर जवाहरनगर थाने में मामला दर्ज हुआ है। व्यापारियों की ओर से घटना वाले दिन भी नई धानमंडी में बैठकर रोष जताया था। इसके बाद फिर मंगलवार को भी दो जगह व्यापारियों की बैठकें हुई थी।


बुधवार को पंचायत धर्मशाला में विभिन्न व्यापारी संगठनों, व्यापारियों सहित अन्य लोगों की बैठक हुई। इस बैठक में घायल व्यापारी के परिजन व अन्य महिलाएं भी पहुंची। बैठक में वक्ताओं ने घटना की निंदा करते हुए पुलिस व हमलावरों पर कई तरह के आरोप लगाए। वहीं शहर में गुण्डागर्दी होने की बात कही।

बैठक के बाद व्यापारियों की ओर से पंचायती धर्मशाला से लेकर एसपी कार्यालय तक रोष मार्च निकाला और लोग पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते चल रहे थे। जहां घायल व्यापारी के परिजन व कुछ व्यापारी, नेता व अन्य लोग पुलिस अधीक्षक व कलक्टर से मिले और आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग की। पुलिस अधीक्षक ने उनको तत्काल कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

व्यापारियों ने कहा कि यदि शीघ्र आरोपी गिरफ्तार नहीं हुए तो आंदोलन किया जाएगा।
इस दौरान व्यापार मंडल अध्यक्ष तरसेम गुप्ता, दी गंगानगर ट्रेडर्स एसोसिएशन अध्यक्ष धर्मवीर डूडेजा, कांग्रेस के जगदीश जांदू, भाजपा के महेश पेडीवाल, पूर्व विधायक हेतराम बेनीवाल, कांग्रेस नेता अशोक चांडक, नरेश सेतिया, भाजपा के संजय महिपाल, भाजपा के जयदीप बिहाणी, हनुमान गोयल, विपिन अग्रवाल, भूपेन्द्र कौर, रतन गणेशगढिया, शिवदयाल गुप्ता सहित अन्य सैंकड़ों व्यापारी मौजूद थे।


बेटी बोली, मेरे पापा को इतनी चोट लगी है
- पुलिस अधीक्षक कार्यालय में ज्ञापन देने के बाद बाहर आई घायल विजय जिंदल की बेटी शाविका जिंदल ने बताया कि एसपी सर ने बोला है, सभी आरोपियों को पकड़ा जाएगा। आज मेरे पापा के इतनी चोट लगी है। एक थप्पड़ का यह मतलब तो नहीं है कि इस तरह मारा जाए।

वो (आरोपी पक्ष) कह रहे है कि मेरे बेटे को गुस्सा आ गया था। सबके घर में बहन -बेटियां है। सभी को गुस्सा आता है। इसका मतलब यह नहीं कि हम भी जाकर मारपीट करें। इस दौरान घायल व्यापारी की पत्नी, बेटा व परिवार के अन्य लोग भी मौजूद थे।


अंदर जाने को लेकर तनातनी
- पुलिस अधीक्षक कार्यालय में ज्ञापन देने जाते समय अंदर आने वालों के नाम बोले जा रहे थे। वहीं कुछ लोग अंदर चले गए लेकिन कुछ लोग बाहर रह गए। जब ये लोग अंदर जाने लगे तो पुलिसकर्मियों ने रोक लिया। इस पर वहां हल्की तनातनी हो गई। बाद में उनको भी अंदर जाने दिया गया। शेष लोग बाहर ही खड़े रहे।

Raj Singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned