आयकर विभाग की कार्यवाही अंतिम चरण में

- टीमें समेटने लगी सामान

By: vikas meel

Published: 10 Feb 2018, 09:26 PM IST

श्रीगंगानगर.

आयकर विभाग के अन्वेषण विंग की जिला मुख्यालय के एक व्यापारिक घराने पर शुरू की गई कार्यवाही शनिवार शाम अंतिम चरण में पहुंच गई। इस काम में जुटी टीमें सामान समेटने में लगी हंै। पुलिस एवं आरएसी का जाब्ता भी वापस लौटने लगा है। इस घराने की नई धान मंडी स्थित दुकान के अलावा ब्लॉक एरिया में मकान पर विभाग की टीम ने कागजात खंगाले थे। पदमपुर बाइपास स्थित एक कॉलोनी से भी जानकारी जुटाई गई थी। इस घराने के पश्चिम बंगाल और गुजरात स्थित कार्यालयों पर भी साथ की साथ कार्यवाही की गई। यह आढ़त, कॉलोनाइजर आदि का काम कर रहा है।


विभाग के जयपुर स्थित कार्यालय के निर्देशन में शुरू हुई यह कार्यवाही गोपनीय रखी गई। आरएसी के जवानों तथा महिला पुलिसकर्मियों को भी कार्यवाही के दौरान साथ रखा गया। शनिवार शाम को कई व्यापारी नेता एवं अन्य लोग दुकान के पास मौजूद रहे। सभी में कार्यवाही के निष्कर्ष को लेकर चर्चा थी, वे अपने-अपने हिसाब से कयास लगा रहे थे।

 

की गई पूरी तैयारी
टीम ने गुरुवार सुबह कार्यवाही शुरू करने से पहले पूरी तैयारी की थी। दो अधिकारी सहित कई कर्मचारी चार-पांच दिन पहले ही यहां आ गए थे। इन्होंने घराने के सभी ठिकानों को न केवल देखा, रास्तों के नक्शे भी तैयार किए। टीम में शामिल बाकी लोग बुधवार को यहां पहुंच गए लेकिन इनमें से किसी को पता नहीं था कि कार्यवाही कहां की जानी है। गुरुवार सुबह ठिकानों पर पहुंचने के बाद ही उन्हें पता चला कि कहां जांच शुरू की गई है।

 

बस जुटाते रहे ब्यौरा
विभाग की टीमें दिन-रात ब्यौरा जुटाती रही और ठिकानों पर ही मौजूद रहीं। सर्दी को देखते हुए बिस्तर-रजाइयों आदि की व्यवस्था खुद ने की। इसी तरह बाहर से खाना आदि भी मंगवाया गया। कार्यवाही के दौरान बाहर पुलिस जाब्ता मौजूद रखा गया। महिला पुलिसकर्मी भी साथ रखी गई। जैसे-जैसे बहीखातों आदि की जांच होती गई, दुकान के एक कक्ष में लगे सोफों पर इन्हें रखा जाता गया। कई जने विवरण लेपटॉप में दर्ज करते रहे।

 

इधर, दवा विक्रेता के यहां सर्वे
जिला मुख्यालय पर रेलवे रोड के नजदीक एक दवा विक्रेता के यहां आयकर विभाग ने शुक्रवार को सर्वे किया। नोटबंदी के चलते यह सर्वे अपर आयकर आयुक्त एचएस ढिल्लो के निर्देशन में किया गया। विभाग के अनुसार पूरा ब्यौरा सोमवार को दिया जाएगा।

Show More
vikas meel
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned