35 स्कूलों के संस्था प्रधानों ने पोषाहार में गड़बड़ी की, नहीं दिया जवाब

अब संबंधित पीइइओ व सीबीइओ से मांगा जवाब

By: Krishan chauhan

Published: 29 May 2020, 09:37 AM IST

35 स्कूलों के संस्था प्रधानों ने पोषाहार में गड़बड़ी की, नहीं दिया जवाब

अब संबंधित पीइइओ व सीबीइओ से मांगा जवाब

श्रीगंगानगर. जिले के 35 राजकीय प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूलों में पोषाहार में गड़बड़ी मिलने पर संस्था प्रधानों ने जवाब तक देना उचित नहीं समझा। शिक्षा विभाग प्रांरभिक के डीइओ ने गंभीरता से लेते हुए संबंधित स्कूलों के पीइइओ व सीबीइओ से दो दिन में पोषाहार में मिली गड़बडिय़ों के संबंध में स्पष्टीकरण मांगा है। इस संबंध में इनको नोटिस जारी किया गया है।
उल्लेखनीय है कि मिल-डे मील आयुक्त एक साल में दो बार स्कूलों के पोषाहार का निरीक्षण करवाते हैं। इसमें राजकीय प्राथमिक,उच्च प्राथमिक विद्यालयों व माध्यमिक विद्यालयों में फरवरी 2020 दो दिन जिले के विभिन्न विभागों के अधिकारियों से पोषाहार का निरीक्षण करवाया गया था। शिक्षा विभाग के अनुसार निरीक्षण में जिले के 35 स्कूलों में पोषाहार में कमियां पाई गई थी। इस पर संबंधित संस्था प्रधानों को 19 मार्च व फिर ई-मेल से 15 मई को नोटिस जारी कर पोषाहार में मिली कमियों के संबंध में स्पष्टीकरण मांगा गया था लेकिन अधिकांश संस्था प्रधानों ने इसका जवाब तक नहीं दिया। निरीक्षण में रिकॉर्ड संधारण, कैसबुक पूरी नहीं होना, खाद्यान्न का स्टॉक पूरा नहीं मिलना सहित कई प्रकार की गड़बडिय़ां मिली थी।

संस्था प्रधानों को दिया नोटिस

शिक्षा विभाग प्रांरभिक में कक्षा एक से लेकर आठवीं तक विद्यार्थियों को पोषाहार दिया जाता है। इसमें राजकीय माध्यमिक विद्यालय 69 एलएनपी,जानकीदासवाला,मलकानाकलां,राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय 68 एलएनपी, 67 एलएनपी, 66 एलएनपी,दो एलसी, एक केएसआर, छह डीडब्ल्यूएम,तीन एम,चार बीबीए,33 बीबी,89 जीबी,दो जेकेएम, 22 आरजेडी,राजकीय बालिका उच्च प्राथमिक विद्यालय मलकाना कला,राजकीय प्राथमिक विद्यालय हरिपुरा,70 एनपी,54 एनपी,एक पीजीएम ढाणी,12 केएनडी,एक जीबी एम,13 केएसडी,32 जीबी,87 जीबी ए,86 जीबी, दो के डब्ल्यूएम, तीन जीबी ए,दो जीबी, 171 आरडी, 14 एच,दो टी जोधेवाला व 38 बीबी के संस्था प्रधानों को नोटिस जारी किया गया था।

फैक्ट फाइल
-जिले में पोषहार बनता है- 1923 विद्यालयों में

-जिले में पोषाहार से लाभान्वित विद्यार्थी-1 लाख 43 हजार 862
-एक साल में पोषाहार पर राशि खर्च होती है-40 करोड़

प्रति विद्यार्थी यह मिलती है राशि
-कक्षा एक से पांचवीं तक- 4.97 पैसे

-कक्षा छह से आठवीं तक- 7.45 पैसे

—स्कूलों में पोषाहार का एक साथ संघन निरीक्षण करवाया था। इसमें 35 स्कूलों में कमियां मिली थी। इस पर संस्था प्रधानों को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा गया था। इस पर संस्था प्रधानों ने अभी तक कोई जवाब नहीं दिया। इस कारण अब सीबीइओ व पीइइओ को नोटिस जारी कर दो दिन में इस संबंध में जवाब मांगा गया है।
दयाचंद बंसल,डीइओ (प्रांरभिक)शिक्षा विभाग,श्रीगंगानगर।

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned