श्रीगंगानगर. संवाद लेखक मयंक सक्सेना ने कहा है कि किसी भी फिल्म की कहानी को आगे ले जाने के लिए संवाद सशक्त माध्यम है। वे इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ श्रीगंगानगर के दूसरे दिन फिल्मों के प्रदर्शन के बाद हुई परिचर्चा में विचार विमर्श कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सिनेमा में संवाद के सहारे ही बात की जाती है तथा वे बेहद असरकारक होते हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned