पोर्टल में व्यवधान, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन नहीं, फिलहाल ऑफलाइन होगी गेहूं की खरीद

- एफसीआइ ने पहली बार ऑनलाइन खरीद का लिया था फैसला

By: Krishan chauhan

Published: 15 Apr 2021, 10:43 AM IST

पोर्टल में व्यवधान, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन नहीं, फिलहाल ऑफलाइन होगी गेहूं की खरीद
- एफसीआइ ने पहली बार ऑनलाइन खरीद का लिया था फैसला

कृष्ण चौहान,पुरुषोत्तम झा
श्रीगंगानगर/ हनुमानगढ़.
भारतीय खाद्य निगम (एफसीआइ) पहली बार ऑनलाइन गेहूं की खरीद कर रहा है लेकिन ऑनलाइन पोर्टल का सर्वर डाउन होने से किसानों को समस्या आ रही है। ऑनलाइन खरीद का निर्णय शुरुआती दौर में ही पिट गया। इसके विकल्प के तौर पर एफसीआइ ने एकबारगी ऑफलाइन गेहूं खरीद का निर्णय किया है। श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ जिले में 51 खरीद केंद्रों पर 13 लाख 24 मीट्रिक टन गेहूं खरीद का लक्ष्य तय किया गया है। दोनों जिले की कई मंडियों में खरीद शुरू भी हो चुकी है। गौरतलब है कि व्यापारी और किसान संगठनों ने व्यावहारिक दिक्कतों का हवाला देते हुए शुरू से ही ऑनलाइन खरीद का विरोध किया था।
यह हैै खरीद प्रक्रिया
किसान को इ-मित्र से एफसीआई के पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना होता है। इसके बाद किसान को टोकन मिलता है। टोकन के आधार पर किसान मंडी में गेहूं लाता है। इसके लिए किसान को गिरदावरी या जमाबंदी, बैंक पासबुक की कॉपी व स्वयं का घोषणा पत्र देना होगा। ठेके पर खेती करने वाले किसान को ठेकानामा पेश करना होगा।
यह आ रही समस्या
किसान गुरलाल बराड़ का कहना है कि 12 अप्रेल को एफसीआई ने कुछ मंडियों में गेहूं की ऑनलाइन खरीद शुरू की गई। शुरू से ही एफसीआई के पोर्टल का सर्वर डाउन है। इससे रजिस्ट्रेशन में दिक्कत आ रही है। बारह अप्रेल के बाद पोर्टल की रफ्तार बहुत धीमी हो गई। वहीं, बार-बार सर्वर ठप भी हो जाता है। इससे किसान-व्यापारी वर्ग परेशान हैं। संपर्क करने पर एफसीआई अधिकारी जल्द सर्वर ठीक होने का महज आश्वासन ही दे रहे हैं।
फिलहाल ऑफलाइन विकल्प
ऑनलाइन खरीद में व्यवधान आने पर एफसीआई ने इसके विकल्प के तौर पर एक बार फिर से ऑफलाइन गेहूं की खरीद का निर्णय किया है। एफसीआई अधिकारियों का कहना है कि जब पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन चालू हो जाएगा, तब डाटा फीड कर दिया जाएगा।
——
फैक्ट फाइल
-श्रीगंगानगर जिला
गेहूं की बुवाई-2 लाख 45 हजार 611 हेक्टेयर
-गेहूं का संभावित उत्पादन-11 लाख 6, 218 मीट्रिक टन।
-गेहूं का प्रति हेक्टेयर उत्पादन-45 क्विंटल 10 किलो.
-खरीद का लक्ष्य-6 लाख 64 हजार मीट्रिक टन
-----------------------
-हनुमानगढ़ जिला
गेहूं की बुवाई-2 लाख 63 हजार हेक्टेयर
-गेहूं का संभावित उत्पादन-13 लाख मीट्रिक टन
-गेहूं का प्रति हेक्टेयर उत्पादन-50 क्विंटल 05 किलो.
-खरीद का लक्ष्य-6 लाख 60 हजार मीट्रिक टन
-श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ का खरीद का लक्ष्य-13 लाख 24 हजार मीट्रिक टन
-न्यूनतम समर्थन मूल्य-1975 रुपए प्रति क्विंटल
श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ में खरीद केंद्र
एफसीआइ-38
राजफैड-03
तिलम संघ-09
नैफड-01
कुल-51
—----------------
श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ जिले में
2020-21 में गेहूं खरीद का लक्ष्य व खरीद
-गेहूं खरीद का लक्ष्य-12 लाख 51 हजार मीट्रिक टन
-गेहूं खरीद की गई--13 लाख 38 हजार मीट्रिक टन
-न्यूनतम समर्थन मूल्य-1925 रुपए प्रति क्विंटल
—------------
पहले एक टोकन ले रखा है। इसमें सोलह अप्रेल का नंबर दिया हुआ है। अब नए टोकन नहीं मिल रहे। अधिकारी वेबसाइट में दिक्कत होना बता रहे हैं। किसानों की सहूलियत के लिए जल्द वेबसाइट में आई खामियों को दूर करना चाहिए।
रिछपाल सिंह, किसान, हनुमानगढ़
...............................................................
जंक्शन मंडी में गेहूं की सरकारी खरीद सुचारू रूप से नहीं हो पा रही। ऑनलाइन टोकन जारी नहीं हो रहे। किसान भटक रहे हैं। मंडियों में गेहूं का अंबार लगा हुआ है।
प्यारेलाल बंसल, व्यापारी नेता, हनुमानगढ़
12 अप्रेल को एफसीआई सहित अन्य खरीद एजेंसियों ने एमएसपी पर श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ जिले में गेहूं की खरीद शुरू कर दी थी। इस बीच सर्वर डाउन होने की वजह से ऑनलाइन रजिस्टेशन पोर्टल में दिक्कत आ रही थी। इस कारण जब तक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन नहीं होता है, ऑफलाइन खरीद की जाएगी। जब पोर्टल चालू हो जाएगा तब किसान का डाटा फीड कर दिया जाएगा।
चक्रेश कुरील, क्षेत्रीय प्रबंधक, भारतीय खाद्य निगम, श्रीगंगानगर।

Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned