लॉक डाउन...दूध की खपत हुई कम,कोरोना वायरस से दूध उत्पादक किसानों पर छाया संकट

-शहर में प्रतिदिन हजारों लीटर दूध की खपत हुई कम

 

लॉक डाउन...दूध की खपत हुई कम,कोरोना वायरस से दूध उत्पादक किसानों पर छाया संकट

-शहर में प्रतिदिन हजारों लीटर दूध की खपत हुई कम

श्रीगंगानगर.कोरोना वायरस की वजह से पहले 31 मार्च तक लॉक डाउन था और मंगलवार रात्रि को देश के प्रधानमंत्री ने बढ़ाकर 14 अप्रेल कर दिया है। इस कारण शहरी क्षेत्र में दूध की खपत काफी कम हो गई। इसका सीधा प्रभाव गांवों में दूध उत्पादक किसानों पर पड़ा है। किसान के घर से अब दूध की खरीद दूधियों ने कम कर दी है। मजबूरी में अब कुछ किसान दूध से घी बनाने या पीने के काम में ले रहे हैं। जबकि पहले वह दूध की बिक्री कर पशुओं के लिए खल व चूरी सहित अन्य आवश्यक कार्य के लिए राशि का उपयोग करते थे। जबकि शहर में करीब पांच सौ सौ से आठ सौ लीटर दूध की प्रतिदिन सप्लाई होती है। इसके अलावा गंगमूल सहित अन्य दूध निर्माता कंपनियां भी शहर में दूध की सप्लाई करती है। इनका दूध की ब्रिकी भी काफी कम हो गई है।
संस्थान बंद होने से दूध लेना किया बंद
-जब से लॉक डाउन किया गया है तब से शहर में होटल,छात्रावास,कैंटिन,पनीर,मावा,खोवा सहित अन्य मिठाइयाां बनाने वाली व्यापारियों ने काम करना बंद कर दिया है। इस कारण दूध की खपत कम हो गई। इस कारण इन्होंने दूधियों से दूध लेना बंद कर दिया है। साथ ही बहुत से कर्मचारी व आम व्यक्ति ग्रामीण क्षेत्र से थे या बहार के थे वो चले गए। इस कारण दूध की खपत कम हो चुकी है।

दूध की खरीद की गांवों से कम
बाजार में दूध की खपत कम होने पर दूध की गांव से खरीद कर लाने वाले दूधियों ने प्रति किसान से एक से लेकर दो लीटर दूध की खरीद कम कर दी है। शहर में दूध की सप्लाई नियमित रूप से की जा रही है। इस महामारी में प्रशासन,मीडिया व अन्य कार्मिक सेवा में लगे हुए हैं तो उनको यूनियन दूध नि:शुल्क भी देनी की योजना बनाई है।
सुभाष स्वामी,अध्यक्ष,श्री दूध सप्लाई मजदूर संघ,श्रीगंगानगर।

नि:शुल्क दूध उपलब्ध कराएगी दूध सप्लाई यूनियन
श्रीगंगानगर श्रीदूध सप्लाई मजदूर संघ के प्रधान सुभाष स्वामी ने बताया कि इस कोरोना वायरस संक्रमण की महामारी में आमजन की सेवा में लगे प्रशासनिक अधिकारियों,डॉक्टर, सफाईकर्मी, मीडिया कर्मियों,पुलिस प्रशासन की ओर से लगाए नाकों आदि स्थानों पर यदि दूध की जरूरत पड़ती है तो श्रीदूध सप्लाई मजदूर संघ के दूध विक्रेता अपने दुपहिया वाहनों से दूध नि:शुल्क पहुंचांगे। प्रधान सुभाष स्वामी ने बताया कि बुधवार को दूध यूनियन ने निर्णय लिया है कि आवश्यकता होने पर दूध प्रशासन को नि:शुल्क उपलब्ध करवाएंगे। दूध यूनियन के प्रधान स्वामी ने दूध यूनियन के हेल्प लाइन नम्बर 94143-45307 एवं 94685-70000 जारी किए है जिस पर कॉल करने पर निशुल्क दूध उपलब्ध होगा। दूध सप्लाई मजदूर संघ के उपाध्यक्ष बृजलाल जांदू ने कहा कि शहर में यदि कही भी दूध की ब्लैक कर अधिक मूल्य में दूध की बिक्री की जाती है तो दूध सप्लाई मजदूर संघ को सूचित करें संघ उस पर कार्रवाई करेगा।

Corona virus
Krishan chauhan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned