script मावठ ने बदली फसलों की रंगत, किसानों के खिले चेहरे | Mawath changed the complexion of crops, farmers' faces blossomed | Patrika News

मावठ ने बदली फसलों की रंगत, किसानों के खिले चेहरे

locationश्री गंगानगरPublished: Feb 05, 2024 01:01:07 am

Submitted by:

yogesh tiiwari

क्षेत्र में बरसात का दौर जारी है। रविवार अलसुबह हुई बरसात से ठण्डक बढ़ गई। वही, किसानों के चेहरे खिल उठे। क्षेत्र में लगातार दो दिन से हो रही बरसात से फसलों को फायदा मिलेगा।

मावठ ने बदली फसलों की रंगत, किसानों के खिले चेहरे
मावठ ने बदली फसलों की रंगत, किसानों के खिले चेहरे
सूरतगढ़ (श्रीगंगानगर). क्षेत्र में बरसात का दौर जारी है। रविवार अलसुबह हुई बरसात से ठण्डक बढ़ गई। वही, किसानों के चेहरे खिल उठे। क्षेत्र में लगातार दो दिन से हो रही बरसात से फसलों को फायदा मिलेगा।
सिद्धुवाला. क्षेत्र में शनिवार रात्रि दो आगल बरसात हुई। इससे फसलों को फायदा मिलेगा। इससे किसानों के चेहरे खिल उठे।
बीरमाना. लंबे समय से मावठ का इंतजार कर रहे किसानों को आखिरकार राहत मिली। क्षेत्र में शनिवार रात को बरसात हुई। इससे रबी की फसलों को काफी लाभ मिलेगा। किसान वर्ग मावठ की लम्बे समय से इंतजार कर रहे थे लेकिन बरसात नहीं हो रही थी। बरसात के अभाव में बरानी फसलें झुलस रही थी। ऐसे में बरसात से फसलों को जीवनदान मिलेगा और अच्छी बढ़वार होगी। किसानों का कहना है कि इस समय मावठ की अच्छी बरसातें होने से जहां फसलों को लाभ मिलेगा, वहीं महंगी दरों पर डीजल खरीद पानी लगाने से राहत मिलेगी। उधर बरसात से गांव की गलियों में पानी ठहर गया। जानकारी के अनुसार गांव हरदासवाली, 6 डीडब्ल्यूएम, बख्तावरपुरा, रघुनाथपुरा, सुखचैनपुरा, उदयपुर गोदारन, संगीता, सरदारपुरा लाडाना आदि क्षेत्र में बरसात हुई।
सूरतगढ़ थर्मल. माघ माह में शनिवार रात्रि को थर्मल क्षेत्र के टिब्बा बेल्ट में मावठ की बरसात हुई। क्षेत्र में करीब चार से पांच मिलीमीटर बरसात होने के समाचार हैं। मावठ से एक ओर जहां किसानों के चेहरे खिल उठे हैं। सोमासर के किसान प्रेम सहारण ने बताया कि बरसात से मौसम में भी परिवर्तन होगा। मावठ की बारिश से पिछले दिनों से पड़ रही सूखी ठंड़ से फसलों को निजात मिलेगी। जिससे फसलों के दाने अब खराब नहीं होंगे। किसानों ने बताया कि बारानी क्षेत्र की सरसों के लिए ये बरसात वरदान साबित होगी। इससे सरसों की फसल में दानों का अच्छा भराव होगा तथा सरसो में लगे चेपे रोग से भी निजात मिलेगी।

ट्रेंडिंग वीडियो